बाढ़ के पानी में डूबने से एक युवक व एक वृद्ध समेत दो की मौत

  • बेनीपट्टी के उच्चैठ और शिवनगर में पानी में डूबने से एक युवक और एक वृद्ध समेत दो की मौत
  • 18 घंटे के बाद युवक का शव बरामद
  • परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल
शव को देखने को उमड़ी भीड़

बेनीपट्टी (मधुबनी): स्थानीय थाना के दो अलग-अलग जगहों पर बाढ़ के पानी में डूबने से एक युवक और एक वृद्ध समेत दो लोगों की मौत हो गयी. पहला मामला शनिवार की शाम के उच्चैठ का है, जहां केबीएससी कॉलेज से पूरब मुख्य सड़क पर बने लचका में एक युवक की मौत हो गयी. मृतक की पहचान बेनीपट्टी थाना के बिरौली गांव के राम दयाल यादव के पुत्र मिंटू यादव (20) के रुप में की गयी. बेनीपट्टी थाना पुलिस ने शव को कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिये सदर अस्पताल मधुबनी भेज दी है.

मिली जानकारी के अनुसार मृतक रंजीत नामक एक अन्य लड़के के साथ अपने घर से किसी काम से उच्चैठ की ओर आ रहा था, जहां लचका के समीप भरे बाढ़ के पानी से होकर गुजरने के दौरान रंजीत का पांव फिसल गया और वह गहरे पानी में गिरकर डूबने लगा. रंजीत को डूबते देख मृतक उसे बचाने गया, जहां उसका भी पैर फिसल गया और गहरे पानी के बहाव में चला गया. इधर रंजीत किसी तरह पानी से बाहर निकल पाने में सफल हो गया पर मृतक को जब तक ढूंढ पाता तब तक वह पानी के तेज रफ्तार में बह गया.

शव को देखने को उमड़ी भीड़

स्थानीय लोगों के द्वारा घटना की सूचना मृतक के परिजनों को दी गयी. परिजनों और स्थानीय लोगों ने पानी में काफी खोजबीन की पर कहीं उसका आता पता नही चल सका. पूर्व विधायक रामाशीष यादव के द्वारा घटना की सूचना डीएम सहित अन्य अधिकारियों को देते हुए एसडीआरएफ की टीम उपलब्ध कराने का आग्रह किया गया. जिला प्रशासन द्वारा सोमवार की सुबह एसडीआरएफ की टीम जब तक घटना स्थल पर पहुंची तब तक स्थानीय लोगों के प्रयास से ही पास के एक झाड़ी में उलझे शव को ढूंढकर निकाल लिया गया.

कुल मिलाकर 18 घंटा के बाद शव को बरामद किया जा सका. उधर मृतक के घर में कोहराम मच गया. परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. उधर दूसरी घटना रविवार की सुबह बेनीपट्टी थाना क्षेत्र के शिवनगर गांव की है, जहां एक वृद्ध की मौत बाढ़ के पानी में डूब जाने से हो गयी. मृतक की पहचान शाहपुर पंचायत के शिवनगर गांव स्थित वार्ड 11 के गांडिवेश्वर स्थान टोल निवासी विलास महतो (60) के रुप में की गयी.

बताया जा रहा है मृतक अपने घर के समीप से होकर गुजर रहे नासिक नामक नाले के समीप शौच के लिये गया था, जहां उसका पैर फिसल जाने के कारण बाढ़ के फैले गहरे पानी में चला गया. जहां डूबने से उसकी मौत हो गयी. आस-पास के किसी व्यक्ति ने उसे पानी में डूबते देखा तो घटना की सूचना परिजनों को दी. परिजनों और स्थानीय लोगों के प्रयास से शव को पानी से बाहर निकाला गया. घटना के बाद मृतक के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. हालांकि स्थानीय लोगों के द्वारा बताया जा रहा है कि मृतक को एक मात्र पुत्र है जो इन दिनों विदेश में रह रहा है.

स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना सीओ बेनीपट्टी और थाना पुलिस को दी. मौके पर पुलिस पहुंची लेकिन मृतक के परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया. इस बाबत सीओ ने बताया कि दोनों घटना दुःखद है लेकिन मौत पर किसी का वश नही होता है. उच्चैठ की घटना में शव को पोस्टमार्टम के लिये भेजा गया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आते ही आपदा प्रबंधन मद से मृतक के परिजनों को हरसंभव आर्थिक सहायता उपलब्ध कराया जायेगा.

वही पूर्व विधायक रामाशीष यादव ने दोनों ही घटना पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए जिला प्रशासन से अनुमंडल मुख्यालय में हमेशा एसडीआरएफ की एक टीम की तैनाती किये जाने और जर्जर लचका के स्थान पर नये सिरे से पूल निर्माण कराने का आग्रह किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!