बिहार में इस बार तीन चरणों में चुनाव, नतीजे 10 नवंबर को

बिहार: में इस बार विधानसभा का चुनाव तीन चरणों में होगा। 10 नवंबर को चुनाव के परिणाम घोषित होंगे। पिछली बार यानी 2015 में पांच चरणों में चुनाव संपन्न हुआ था। विधानसभा में 243 सीटें हैं, जिनमें से 38 सीटें अनुसूचित जाति और दो अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं।

इस बार 17वीं विधानसभा के लिए चुनाव हो रहा है। पहले चरण में 72, दूसरे में 94 और तीसरे में 78 सीटों पर मतदान होंगे। पहले चरण में 28 अक्टूबर, दूसरे में तीन नवंबर और तीसरे में 7 नवंबर को वोट पड़ेंगे। 80 वर्ष से अधिक उम्र वाले मतदाताओं को डाक मतपत्र की सुविधा मिलेगी। कोरोना से संक्रमित मतदाता सबसे बाद में मतदान करेंगे। उनसे मतदान कराने वाले कर्मी पीपीई किट पहनेंगे।

ADD

कोरोना के मद्देनजर इस बार मतदान के समय में एक घंटे की बढ़ोतरी की गई है। सुबह सात से शाम छह बजे तक वोट पड़ेंगे। हजार से अधिक मतदाताओं पर दूसरे मतदान केंद्र की व्यवस्था होगी।

उल्लेखनीय है कि 16वीं विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को पूरा हो रहा है। उससे पहले सरकार का गठन होना है। अभी तक की संभावना के मुताबिक इस बार मुख्य मुकाबला राजग और महागठबंधन के बीच होना है। हालांकि दोनों गठबंधनों में अभी पार्टियों की स्थिति और सीटों की संख्या का निर्धारण नहीं हुआ है। इस कारण टूटने-रूठने का दौर भी चल रहा है। इसका सर्वाधिक नुकसान महागठबंधन हो हो रहा।

हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा का नेतृत्व करने वाले जीतन राम मांझी अपनी उपेक्षा का आरोप लगाते हुए जदयू के पाले में जा चुके हैं, जबकि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने तेजस्वी यादव के व्यक्तित्व-नेतृत्व को मुकाबले में कमतर करार दिया है। नेतृत्व के मसले पर राजग में अभी इस स्तर का कोई विवाद नहीं। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बिहार में राजग का नेता बता चुके हैं। नीतीश जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं

और उनकी पार्टी विधानसभा के पिछले चुनाव में दूसरा बड़ा दल रही थी। जदयू को 71 सीटें मिली थीं। सर्वाधिक 80 सीटें जीतने वाला राजद अभी मुख्य विपक्षी दल है। भाजपा को पिछली बार 53 सीटें मिली थीं और राजग के एक प्रमुख घटक लोजपा को महज दो सीटों से संतोष करना पड़ा था। हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा से एकमात्र विजेता जीतन राम मांझी रहे थे, जो खुद दो सीटों पर ताल ठोक रहे थे। एक सीट पर उन्हें करारी शिकस्त मिली थी।
:::::::::::::::::::::

चुनावी तारीखें
पहला चरण
16 जिलों के 71 विधानसभा क्षेत्रों में पड़ेंगे वोट
अधिसूचना : 01अक्टूबर को
नामांकन की अंतिम तिथि : 08 अक्टूबर
नामांकन पत्रों की जांच : 09 अक्टूबर
नाम वापसी : 12 अक्टूबर
मतदान : 28 अक्टूबर
………………

दूसरा चरण
17 जिलों के 94 विधानसभा क्षेत्रों में पड़ेंगे वोट
अधिसूचना : 09 अक्टूबर
नामांकन की अंतिम तिथि : 16 अक्टूबर
नामांकन पत्रों की जांच : 17 अक्टूबर
नाम वापसी : 19 अक्टूबर
मतदान : 03 नवंबर
………………

तीसरा चरण
15 जिलों के 78 विधानसभा क्षेत्रों में पड़ेंगे वोट
अधिसूचना : 13अक्टूबर
नामांकन की अंतिम तिथि : 20 अक्टूबर
नामांकन पत्रों की जांच : 21 अक्टूबर
नाम वापसी : 23 अक्टूबर
मतदान : 07 नवंबर
:::::::::::::::::::::

10 नवंबर को सभी विधानसभा क्षेत्रों में पड़े वोटों की गिनती होगी। शाम तक सारे नतीजे घोषित हो जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!