अपने प्रेमी को बचाने के लिए महिला ने की थी भरपूर प्रयास

हरलाखी : थाना क्षेत्र के हरिणे गांव में शनिवार की रात्रि हुई करीब 40 वर्षीय स्व. संतोष साह हत्या से पूर्व जान बचाने के लिए महिला ने भरपूर प्रयास की थी। लेकिन महिला के दोनों पुत्र को यह अवैध संबंध की भनक बहुत पहले से था। रात्रि करीब 1 बजे संतोष साह को घर में घुसा देख महिला के पुत्र अजय साह हो-हल्ला करना शुरू कर दिया। जिसके बाद महिला के दूसरे पुत्र रवि साह की भी नींद खुल गई। दोनों भाई ने मिलकर मां के आशिक संतोष साह की हाथ पांव बांधकर पिटाई शुरू कर दी। बीच-बचाव करने महिला भी आई। दोनों बेटो को मारने से भी मना की। लेकिन दोनों भाई संतोष साह को जान से ही मार देना चाह रहा था।

महिला द्वारा जोर जबरदस्ती करने पर दोनों भाई मां पर ही टूट पड़ा। आंगन में रखे वर्तन से मां के सर पर प्रहार कर दिया। जिससे कुछ समय के लिए महिला बेहोश होकर गिर गई। होश आने पर चुपके से आंगन से निकल कर कही भाग गई। लेकिन संतोष साह को तबतक पीटते रहा जबतक बेहोश नही हो गया। ग्रामीणों ने बताया कि कुछ आसपास के लोग मारपीट करने से मना किया था, लेकिन दोनों भाई किसी को इस बीच में आने से मना करते रहा। जब संतोष साह बेहोश हो गया तो छोटे भाई रवि साह को मां को खोजने के लिए भेज दिया। जिसके बाद इस पूरे घटना की जानकारी आरोपी अजय साह खुद हरलाखी थानाध्यक्ष प्रेमलाल को फोन कर दी।

ADVERTISEMENT

सूचना पर पहुंची हरलाखी पुलिस जब आरोपी के दरवाजे पर पहुंची तो संतोष साह की मौत हो चूंकि थी। खून से लतपथ महिला के दरवाजे पर से पुलिस ने शव बरामद की। जिसके बाद पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजन को सौंप दिया। परिजन ने देर शाम स्व.संतोष साह की अंतिम संस्कार भी कर दिया। घटना के बाद से ही मृतक की पत्नी का बुरा हाल है। बार बार बेहोश हो जा रही है। परिवार में मातम छाया हुआ है। मृतक को एक पुत्र व एक पुत्री है।

ADVERTISEMENT

मृतक संतोष साह की पत्नी का आरोप घर बुलाकर की हत्या

हरलाखी थाना पुलिस ने इस घटना को लेकर मृतक संतोष साह की 30 वर्षीय पत्नी संजू देवी के फर्द बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर ली है। मुख्य आरोपी अजय साह को गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया है। अन्य आरोपी अब भी फरार चल रहा है। पुलिस महिला सहित सभी आरोपी को गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। पीड़िता संजू देवी का आरोप है की सभी 9 आरोपी एक राय होकर मृतक संतोष साह को आरोपी के घर बुलाकर ले गया। जिसके बाद लोहे के सिकट से खुट्टा में बांधकर पीटते पीटते मार दिया।

ADVERTISEMENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: