पंचतत्व में विलीन हो गया चानपुरा संस्कृत महाविद्यालय के प्राचार्य

हरलाखी : प्रखंड क्षेत्र स्थित हरसुवार गांव निवासी 56 वर्षीय डॉ विद्यानाथ झा बुधवार की सुबह पंच तत्व में विलीन हो गए। उनके आकस्मिक निधन पर गांव सहित आस-पास के इलाकों में शोक की लहर दौर गई। स्वर्गीय झा देवशंकर हलधर चौधरी संस्कृत महाविद्यालय में प्राचार्य के अलावे छतौनी संस्कृत महाविद्यालय व गजहरा संस्कृत महाविद्यालय के सचिव भी थे। उनके पार्थिव शरीर की दर्शन के लिए पैतृक गांव हरसुवार में सैकड़ो लोग उपस्थित हुए।

स्व झा अपने पीछे दो पुत्र प्रवीण कुमार झा व प्रफुल्ल कुमार झा एक पुत्री प्रीति झा छोड़ गए हैं। उनके तीनों बच्चे अपने-अपने जगह पर सक्षम हैं। उनके निधन पर पिता पंडित शिवशंकर झा भाई प्रोफेसर अमरनाथ झा, शम्भू झा व लोकेशनाथ झा सहित स्थानीय विधायक सुधांशु शेखर, ग्रामीण राधेश्याम झा, सुशील कुमार झा, रामप्रवेश झा, बाबूसाहेब झा, प्रजापति झा, भूपनारायण झा, विश्वनाथ झा, घनश्याम झा सहित सैकड़ो लोगों ने शोक व्यक्त करते हुए उनकी आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्राथना की हैं।

ADVERTISEMENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: