एसडीओ ने बासोपट्टी प्रखंड में कई जविप्र दुकानों को किया निरीक्षण

रौशन कुमार की रिपोर्ट
बासोपट्टी : जनवितरण प्रणाली के दुकानों की मंगलवार को एसडीओ बेबी कुमार ने किया औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान वीरपुर पंचायत के दो डीलर कटैया पंचायत के एक डीलर व बासोपट्टी पश्चमी पंचायत के एक डीलर के यहां पहुँच कर जांच किया गया।

एसडीओ द्वारा जविप्र विक्रेताओं के क्षेत्राधिन लाभुकों से डीलर के बारे में जानकारी प्राप्त किया गया। जिसमें उन्हें वीरपुर पंचायत के दोनों डीलर के खिलाफ लाभुकों द्वारा कम अनाज देने की शिकायत मिली और कटैया पंचायत के सिराही गांव के डीलर के बारे में भी शिकायत मिली।  बासोपट्टी पश्चिमी के डीलर जवाहर प्रसाद की दुकान बंद पाया गया। एसडीओ बेबी कुमारी ने बताया कि लाभुकों से मिली शिकायत के आधार पर डीलरों से स्पस्टीकरण की मांग किया जा रहा है। जवाब मिलने के बाद अग्रेतर कारवाई की जाएगी।

ADVERTISEMENT

प्रखंड क्षेत्र के प्रायः जविप्र विक्रेताओं के द्वारा लाभुकों को 5 किलो अनाज के बदले 4 किलो अनाज वर्षो से दिया जा रहा है। वही आपदा के समय फ्री मिलने वाले अनाज में भी कटौती की जा रही है। बासोपट्टी पश्चिमी के जविप्र दुकानदार जवाहरलाल साह के समक्ष उपभोक्ता वीणा देवी से एसडीओ को लिखित शिकायत देते हुए बताया कि राशनकार्ड में चार लोगों का नाम दर्ज है, और डीलर द्वारा मात्र सोलह किलो राशन ही दिया जाता है, उन्होंने एसडीओ को बताया कि पिछले महीना भी अनाज नही दिया गया था। मई माह का राशन महीना खत्म होने के बाबजूद अभी तक नही दिया गया है। जिससे स्पष्ट प्रतीत होता है कि डीलर द्वारा एक माह का राशन कालाबजारी किया गया है।

ADVERTISEMENT

एसडीओ द्वारा जांच के क्रम में पाया गया कि डीलरों द्वारा लाभुकों के बीच प्रति यूनिट 4 किलो अनाज दिया जा रहा है, साथ ही वितरण के समय लाभुकों को सोशल डिस्टेंस का अनुपालन नहीं करवाया जा रहा है, वितरण पंजी व स्टॉक पंजी का भी मिलान किया गया जिसमें अनिमियत्ता मिलने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। सरकार द्वारा करोना वैश्विक महामारी के दौरान सभी लाभुकों को पूर्व से मिल रहे अनाज की मात्रा शुल्क के साथ व प्रति यूनिट 5 किलो चावल मुफ्त देने की घोषणा किया गया है, लेकिन पूर्व की तरह लाभुकों के बीच डीलरों द्वारा 4 किलो राशन ही दिया जा रहा है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: