महिला पुलिस के जज्बे को सलाम, तड़प रहे घायलों को गोद मे उठाकर भेजा अस्पताल, इक्कठा भीड़ बना रहा मूकदर्शक

बीएमपी के महिला सिपाही सलोनी कुमारी व आरती कुमारी के जज्बे को सलाम

मधवापुर : सूबे में कोरोना महामारी को लेकर जारी लॉक डाउन के अनुपालन में पुलिस द्वारा बेवजह मटरगश्ती कर रहे लोगों पर डंडे चलाते हुए तस्वीर तो सबने देखी होगी। लेकिन आज एक महिला सिपाही के जज्बे को देखकर सभी जरूर इसे सलाम करेंगे।

दरअसल साहरघाट थाना क्षेत्र के लोमा चौक पर बुधवार की सुबह भीषण सड़क हादसा हुआ। जिसमें एक बालक की मौत हो गई और तीन लोग बुरी तरह जख्मी हो गए। इस दौरान जख्मी सड़क पर तड़प रहा था। लेकिन घटना को देखने आई भीड़ की मानवता मानो तो अंदर से मर गई थी।

किसी ने घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए आगे आने की जहमत नही उठाई। घटना के तुरंत बाद साहरघाट थाना पुलिस को सूचना मिली। सूचना मिलते ही पुलिस घटना स्थल पर पहुंची और घायलों को अस्पताल भेजने लगी। लेकिन मूकदर्शक बने कोई भी लोग घायल को उठाकर ओटो में बिठाने को तैयार नही था। जहां बीएमपी के दो महिला पुलिस सलोनी कुमारी व आरती कुमारी ने मानवता का संदेश देते हुए घायल लड़की को गोद मे उठाकर और अन्य घायलों को ओटो में बैठाया। जिससे समय सभी का इलाज हो सका। महिला सिपाही के इस जज्बे को सलाम किया जाना चाहिए।

One thought on “महिला पुलिस के जज्बे को सलाम, तड़प रहे घायलों को गोद मे उठाकर भेजा अस्पताल, इक्कठा भीड़ बना रहा मूकदर्शक

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: