MSU के राघवेंद्र रमन ने पंचायत में बने उपस्वास्थ्य केन्द्र में सेवा बहाल करने की किया मांग हो

हरलाखी : मिथिला स्टूडेंट यूनियन के पूर्व राष्ट्रीय संगठन मंत्री राघवेंद्र रमण ने कहा कि हरलाखी प्रखंड के गांव में बढ़ते कोरोना के केस चिंता उत्पन्न कर रही है। 36 गांव में कोरोना के केस सामने आये है, लेकिन अभी तक प्रशासन के द्वारा कोई ऐसा प्रयास नही देखने को मिल रहा है जिससे ये देखा जाए कि हरलाखी प्रखंड के गांव में बढ़ रहे कोरोना के केस पर रोक लग सके। प्रशासन के द्वारा किसी भी गांव को ना कांटेंमेंट जोन नही घोषित किया, ना उस गाँव में या मुहल्ले में डोर टू डोर कोविड का जांच किया गया है।

वही जनवरी से अभी तक यानी पांच महिनों में मात्र 8700 लोगों का ही कोरोना जाँच हुआ है, जो हरलाखी प्रखंड के जनसंख्या के बहुत ही कम है, वही वेक्सिनेशन की बात करे तो 45 से अधिक उम्र के लोगों को अब तक 10758 किया गया है वही 18 से 44 वर्ष के लोगों को 1387 लोगों को वैक्सीन लगाया गया है। मिथिला स्टूडेंट यूनियन मांग करता है सबसे पहले पंचायत के सभी उपस्वास्थ्य केंद्र जो अभी पेपर पर ही चलता है उसे सुचारू रूप से चालू किया जाये। जिससे गांव के लोगों को सही जानकारी मिले।

ADVERTISEMENT

आज चिकित्सा के लेकर जो कठिनाई हो रही है उसे छुटकारा मिल सके। साथ ही गांव में लाउडस्पीकर से जागरूक करने का प्रावधान है उसे किया जाये। टेस्ट को बढ़ाया जाये। जिस गांव में कोरोना के केस सामने आते है उस गांव में कांटेंमेंट जोन घोषित कर डोर टू डोर जांच किया जाये। यदि इसमें लापरवाही बरती जाती है तो ऐसे लोगों पर वरीय पदाधिकारियों के द्वारा त्वरित करवाई किया जाये

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: