लाल बहादुर शास्त्री की 116वीं जयंती, विजय घाट जाकर राष्ट्रपति और पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

दो अक्तूबर को आज देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की 116वीं जयंती है। उनकी सादगी अपने आप में मिसाल है। ईमानदारी और स्वाभिमानी छवि की वजह से आज भी उन्हें बहुत सम्मान के साथ याद किया जाता है। इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है। वहीं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने विजय घाट पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, ‘पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर उनकी स्मृति को नमन। भारत माता के उस महान सपूत ने अभूतपूर्व समर्पण और सत्यनिष्ठा से देश की सेवा की। हरित क्रांति व श्वेत क्रांति में मूलभूत भूमिका और युद्धकाल में सुदृढ़ नेतृत्व के लिए सभी देशवासी उन्हें श्रद्धापूर्वक याद करते है।’

प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री को याद करते हुए लिखा, ‘लाल बहादुर शास्त्री जी विनम्र और दृढ़ थे। उन्होंने सादगी को महत्व दिया और हमारे राष्ट्र के कल्याण के लिए जीया। हम उनकी जयंती पर उन्हें भारत के लिए किए गए हर काम के लिए कृतज्ञता की भावना के साथ याद करते हैं।’

https://twitter.com/AmitShah/status/1311837365585891328

गृह मंत्री ने शास्त्री जी को नमन करते हुए कहा, ‘भारत रत्न लाल बहादुर शास्त्री जी का सादगीपूर्ण, दूरदर्शी व निडर व्यक्तित्व पूरे देश को प्रेरित करता है। उनके हिमालय जैसे मजबूत नेतृत्व और ‘जय जवान जय किसान’ के ओजस्वी नारे ने भारत की समृद्धि व सुरक्षा के दो सबसे बड़े स्तंभ…किसानों और जवानों को सशक्त किया। उन्हें कोटि-कोटि नमन।’

https://twitter.com/rajnathsingh/status/1311852057482067969

रक्षा मंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा, ‘पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्रीजी एक ऐसी शख्सियत थे जिन्होंने सादगी, सरलता, सत्य-निष्ठा एवं सहजता जैसे जीवन मूल्यों को आजीवन जिया। देश के प्रति उनका जो योगदान है वह हम सभी के लिए प्रेरणा है। शास्त्रीजी की जयंती पर मैं उन्हें अपनी भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।’

वहीँ देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की 116वीं जयंती पर उनके पुत्र ने भी विजय घाट पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!