दुर्गा पूजा में नहीं होगा प्रसाद व भोग का वितरण, नहीं बजेगे डीजे, लाउड स्पीकर, मेला व सांस्कृतिक कार्यक्रम पर भी लगाया गया प्रतिबंध

सत्यनारायण यादव की रिपोर्ट

बिस्फी: वैश्विक महामारी कोविड-19 के बीच हो रहे बिहार विधानसभा चुनाव एवं दुर्गा पूजा को लेकर सरकार के द्वारा किए गए अलग अलग तरह के जारी गाइड लाइन को लेकर आम लोगो सहित पूजा कमिटी के बीच काफी आक्रोश ब्याप्त है। सरकार के द्वारा दोहरी नीति के खिलाफ पूजा कमिटी के कई सदस्यों ने चुनाव के बहिष्कार किए जाने की बात कही है।

लोगों का कहना है की कोविड -19 के मद्देनजर दुर्गा पूजा को लेकर सरकारी गाइड लाइन के अनुसार कलश शोभा यात्रा से लेकर प्रतिमा विसर्जन तक किसी भी प्रकार के जुलूस या भीड़ भाड़ नही लगायी जानी है। यंहा तक कि पंडाल का निर्माण, मेले का आयोजन, सांस्कृतिक कार्यक्रम सहित प्रसाद या भोग के वितरण पर भी रोक है। यंहा तक की पूजा कमिटी के द्वारा पंडाल में पर्याप्त सेनिटाइजर की व्यवस्था रखनी है साथ ही श्रद्धालुओं को बिना फेस मास्क लगाए प्रवेश निषेध है। सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पूरा ध्यान रखे जाने की बात कही जा रही है।

लेकिन विधानसभा चुनाव को लेकर नेता जी के लिए फेस मास्क या सामाजिक दूरी के अनुपालन किए जाने के लिए कोई व्यवस्था नही की गयी। चुनाव के मद्देनजर नेता जी के प्रचार प्रसार के लिए सरकार के द्वारा भी अलग तरह के नियम बनाए गए है। उक्त बातों से आक्रोशित नरसाम दुर्गा पूजा कमिटी के सचिव संजीत कुमार मंडल,राकेश पंजियार सहित अन्य सदस्यों ने बताया की दुर्गा पूजा को लेकर सरकार के द्वारा जारी गाइड लाइन का हम सभी अनुपालन करने को तैयार है। लेकिन चुनाव को लेकर सरकार के द्वारा दोहरी नीति की भूमिका निभाई जा रही है। जिससे हम सभी ही नही बल्कि पूरे समाज के लोग आहत है।

लोगो का कहना है कि कोविड-19 का गाइड लाइन सिर्फ पूजा पाठ के लिए है या फिर नेता लोगों के लिए भी है।नेता जी के द्वारा सारे नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है।फेस मास्क की बात तो दूर रही सामाजिक दूरी का भी अनुपालन नही देखी जा रही है।प्रशासन के लोग भी मौन है।पूजा कमिटी के सदस्यों ने कहा है कि सरकार के इन दोहरी नीति का जबाब हम सभी अपने मताधिकार का बहिष्कार कर देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!