जयनगर में डंपिग प्वाइंट नही रहने से राहगीरों को हो रही परेशानी, कमला नदी के निकट से हटाया जाएगा कचरा

मधुबनी : कमला नदी के किनारे पूरे जयनगर शहर का कचरा फेंके जाने से लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। बार-बार शहर के लोगों द्वारा इसका विरोध किया जा रहा, बावजूद नगर पंचायत अपनी जमीन में डंपिग प्वाइंट नहीं बना रहा है। कमला नदी के किनारे कचरा डंपिग प्वाइंट बना दिए जाने से राहगीरों का उसके बगल से चलना भी मुसीबत बन गया है । मुक्ति धाम के बगल में कचरा डंपिग प्वाइंट बना दिए जाने से लोगों को मुक्ति धाम में दाह संस्कार के समय भी परेशानी होती है। शहर के व्यापारियों द्वारा लाखों रुपए की लागत से हिन्दू समुदाय के लोगों की मृत्यु होने पर दाह संस्कार के लिए मुक्ति धाम का निर्माण कराया गया, लेकिन नगर पंचायत प्रशासन द्वारा उसके आस-पास कचरा फेंके जाने के कारण परेशानी हो रही है।

वर्षों से डपिग प्वाइंट बनाने की योजना अधर में

जयनगर नगर पंचायत द्वारा शहर के कचरा का निस्तारण बेहतर तरीके से करने के लिए वर्षों से 22 कट्ठा जमीन रखे हुए है। जहां कचरा डंपिग प्वाइंट बनाना है। विगत कई वर्षों से यह योजना अधर में लटका हुआ है। जिस कारण कभी सड़क किनारे कचरा का अंबार लगा रहता है। नदी किनारे भी कचरा का ढ़ेर लगा दिया जाता है। जिस कारण शहर के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

इस बावत कार्यपालक पदाधिकारी अमित कुमार ने बताया कि कचरा डंपिग के लिए समुचित जगह नहीं होने के कारण कमला नदी मुक्ति धाम के नजदीक डंपिग प्वाइंट बनाया गया है। एसडीओ बेबी कुमारी ने बताया कि मामला संज्ञान में नहीं था, शीघ्र ही कमला नदी के किनारे से कचरा डंपिग प्वाइंट हटाया जाएगा।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: