ग्रामीण क्षेत्रो में घर-घर में सर्दी-बुखार से लोगों में दहशत ,दवाओं की किलत

मधवापुर प्रखंड : के गांव में कोरोना की दूसरी लहर कोहराम मचा दिया है। इस प्रखंड में कई व्यक्ति की अबतक कोरोना से मौत हो चुकी है। जबकि तकरीबन ढाई दर्जन लोग कोविड पॉजिटिव हो चुके हैं। अभी भी गांव में एक्टिव केस की संख्या दो दर्जन है। कुछ लोग स्वस्थ भी हो चुके हैं। जबकि अधिकांश लोग अभी होम आइसोलेशन में हैं।

गांव के लोग डर के साये में हैं। उनके चेहरे पर कोरोना का खौफ स्पष्ट दिख रहा है। खासकर यह स्थिति तब और दिखती है जब गांव में किसी व्यक्ति का सामान्य निधन भी होता है। कुछ—एक अंतिम संस्कार के ऐसे मामले भी सामने आये हैं जहां यह संख्या भी नहीं पूरी हुई है। मृतक के नजदीकी परिजन ही शव का अंतिम संस्कार किये हैं। कोरोना से बचाव के लिए गांव में प्रथम व द्वितीय डोज के लिए टीकाकरण शिविर लगा है। हरलाखी एंव मधवापुर मध्य विद्यालय पर कोरोना जांच शिविर भी लगा है। गांव में माकूल स्वास्थ्य सुविधा मौजूद नहीं है।और तो और ईस महामारी बिमारी जैसी समस्याओं मे कई दवा दुकानदार तो मरीजों से मोटी रकम ले रहे है ।रकम नही देने पर दवा नही रहने की बात बताया जाता है।प्रखंड के लगभग लगभग उपस्वास्थ्य केन्द्र का बन्द पड़ा ही रहता है ।सायद खुला मिल जाए तो डाक्टर या दवा नही मिल पाता है ।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: