महिलाओं के सवाल पर महिला विधायक ने जनता को कहा बेहूदा और पागल

  • पहले भी विवादों से रहा बेनीपट्टी के कांग्रेस विधायक का नाता
  • कभी बेटियों के बारात के लिये रखे नास्ते में लात मारकर फेंकने तो कभी बस हादसे में सेल्फी लेने को लेकर रहीं हैं सुर्खियों में
  • प्रश्न पूछने का हक नही होने की भी कहीं बात, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल
  • जनता के सवाल से तिलमिलाई जमुआरी में नाला निर्माण का उद्घाटन करने पहुंची विधायक ने उल्टे जनता को सुनाई जली कटी
फोटो:- बेनीपट्टी के जमुआरी में विधायक से सवाल जबाब करते ग्रामीण

बेनीपट्टी (मधुबनी): जी हां! बिहार विधानसभा चुनाव की आहट सुनते देख कई जगहों पर विधायकों का आम जनता के गुस्से का शिकार होने का मामला सामने आने लगा है. वहीं दूसरी ओर बेनीपट्टी की महिला विधायक महिलाओं की समस्याओं से जुड़े सवाल पूछे जाने पर उल्टे जनता पर ही भड़क गईं और सवाल पूछनेवाली जनता जनार्दन को ही बेहूदा और पागल कह दीं. मामला रविवार का है, जहां बेनीपट्टी प्रखंड के अरेर उत्तरी पंचायत के जमुआरी टोल में मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना मद से 950 फीट में नवनिर्मित नाला निर्माण का उद्घाटन करने पहुंची बेनीपट्टी की कांग्रेस (Congress) विधायक भावना झा को आमजनों का गुस्सा झेलना पड़ा.

उद्घाटन स्थल पर खड़े लोगों ने विधायक से सवाल पूछा तो विधायक (MLA) अपने आपा खो बैठीं और सामने खड़े जनता को भला बुरा कहने लगीं. लोग अड़े थे कि आप हमारे जनप्रतिनिधि हैं तो हम आपसे समस्या से जुड़ी प्रश्न पूछेंगे ही और विधायक जी अड़ीं रहीं कि आप हमसे कोई सवाल नही कर सकते. है. दरअसल लोगों का कहना था कि बीते पांच साल में विधायक जी यहां के लोगों का हाल जानने नही पहुंचीं और जब बिहार विधानसभा चुनाव नजदीक आया तो नाला निर्माण का उद्घाटन कर विकास करने का ढकोसला कर रहीं हैं. काफी देर तक दोनों पक्षों में सवालों का जबाब देने को लेकर कहासुनी होती रही. इसके बाद लोगों में विधायक के प्रति गुस्सा बढ़ने लगा.

इसी दौरान ग्रामीणों ने विधायक से फिर पूछा कि बेनीपट्टी पीएचसी में एक भी महिला चिकित्सक की बहाली नही है. पीएचसी में पहुंचनेवाले प्रसव पीड़ित महिलाओं का प्रसव भी पुरुष चिकित्सक के द्वारा करवाया जाता है. आप भी एक महिला जनप्रतिनिधि हैं. इस समस्या के लिये आपने कौन से कदम उठाये. इतना पूछते ही विधायक भड़क उठीं और पूछनेवाले लोगों को बेहूदा और पागल आदि सब कह डालीं. विधायक बोलीं आप हमसे सवाल पूछने वाले होते कौन हैं. हम आपके सवालों का जबाब देने को प्रतिबद्ध नही हैं. आप सभी के दिमाग में पत्थर घुसा है. वे पूर्व विधायक का उलाहना देने लगीं और पूछा कि और लोग क्यों नही किया.

विधायक ने कहा कि हम सरकार नही हैं कि बहाली कर देंगे. हम मांग ही कर सकते हैं न. तो लोगों ने कहा कि आपने विधानसभा में यह मुद्दा उठाया इससे संबंधित कोई साक्ष्य हो तो हमलोगों को संतुष्ट करें. इसी क्रम में लोगों ने यह भी पूछा कि अरेर को प्रखंड बनाने के लिये आपने क्या पहल कीं. इसके बाद बेहद आक्रोशित विधायक ने यह कहते हुए कि नेतागिरी नही छाटों बिना कोई जबाब दिये वहां से उठकर चल दीं. इसके बाद विधायक के एक कार्यकर्ता सफाई देने लगे तो लोगों ने उस कार्यकर्ता को बिचौलिया और कमीशनखोर आदि भी करार दे दिया.

कुल मिलाकर विधायक जी के साथ आधे घंटे तक लोगों की हुई कहासुनी के बाद उनके रवैये से लोगों में नाराजगी व्याप्त है. इसके बाद इससे संबंधित वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगा. जहां विधायक के गैर जिम्मेदाराना व्यवहार और उटपटांग जबाब को लेकर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं जारी है.

अधिकांश चौक चौराहे पर इस चर्चे के साथ मुख्यालय स्थित कांग्रेस कार्यालय परिसर में बीते वर्षों में विधायक के द्वारा ठहरे किसी बेटी की बारातियों से दुर्व्यवहार करने व उसके लिये रखे नास्ते पर पैर की ठोकर मारकर फेक दिये जाने व बसैठ में बीते वर्ष में हुए बस हादसे में दो दर्जन सेअधिक लोगों की हुई मौत मामले में जाकर सेल्फी लेने की भी चर्चाओं का बाजार गर्म हो चुका है.

मौके पर राहुल चौधरी, बसंत चौधरी, राजेश चौधरी, शंभू चौधरी, माधव चौधरी, अमित चौधरी, राकेश चौधरी, राजहंस चौधरी, गुड्डू चौधरी, नीतीश चौधरी, धनंजय चौधरी व नितेश चौधरी सहित अन्य लोग भी मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!