श्रावण की पहली सोमवारी पर सुना सुना रहा अधिकांश शिवालय

सामूहिक जलाभिषेक पर रही रोक

सुना पड़ा भैरवा स्थित उगना महादेव मंदिर

बेनीपट्टी (मधुबनी) : प्रखंड के अधिकांश शिवालय श्रावण की पहली सोमवारी को सुना सुना रहा. सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के शिवालयों में अहले सुबह में रोक के बावजूद कुछेक श्रद्धालुओं ने गर्भ गृह में प्रवेश कर जलाभिषेक किया और पूजा अर्चना कर भगवान भोलेनाथ से आशीर्वाद प्राप्त किये. श्रद्धालुओं ने शिवलिंग की धूप, दीप और विपल्लव पत्र आदि से पूजा की.

इस दौरान प्रखंड के प्रमुख शिवालय शिवनगर गांव के बाबा गांडिवेश्वर नाथ महादेव मंदिर, ब्रह्मपुरा स्थित बाबा हरिहरनाथ महादेव और मुख्यालय के बाबा विश्वम्भरनाथ महादेव में बहुत ही कम संख्या में श्रद्धालु पहुंचे. अधिकांश श्रद्धालुओं ने गर्भ गृह के बाहर ही पूजा अर्चना कर मनोकामना पूर्ति के वरदान मांगे.

बेनीपट्टी के शिवनगर स्थित बाबा गांडिवेश्वर स्थान महादेव मंदिर में रोक के बाद भी जलाभिषेक करते श्रद्धालु

बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लागू अनलॉक-2 के जारी दिशा निर्देशानुसार लोगों ने दूर दराज से भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना की. वहीं कई श्रद्धालुओं ने भगवान शिव से कोरोना संकट दूर करने की कामना की. बताते चलें कि हर साल अधिकांश शिवालय परिसर में धूमधाम से मेला का आयोजन होता था.

केसरिया कपड़े में सजकर महिला पुरुष, युवा, वृद्ध और बच्चे पूरे हर्षोल्लास के साथ डीजे के धुन पर नाचते थिरकते हुए पास के नदी से पवित्र जल भरकर लाते थे और शिवलिंग का जलाभिषेक कर वर की कामना करते थे. बोल बम और ओम नमः शिवाय के नारों से वातावरण गुंजायमान बना रहता था.

वहीं शिव पार्वती के गीतों से पूरे दिन आस-पास का वातावरण शिवमय बना रहता था. लेकिन इस बार कोरोना संकट के कारण सावन की पहली सोमवारी अन्य सालों की अपेक्षा सुना रहा. शिवालय के साथ-साथ शिव भक्तों पर भी उदासी छायी रही.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!