उगना महादेव मंदिर में जलाभिषेक, श्रावणी मेला व विधि व्यवस्था को लेकर बिस्फी थाना परिसर में की गयी बैठक

सत्यनारायण यादव की रिपोर्ट

बिस्फी(मधुबनी): भैरवा स्थित उगना महादेव मंदिर में श्रावणी मेला एवं जलाभिषेक का आयोजन नहीं करने तथा इस हेतु विधि व्यवस्था संधारण को लेकर बिस्फी थाना परिसर में सीओ प्रभात कुमार की अध्यक्षता में एक बैठक की गयी। बैठक में मूल रूप से भैरवा स्थित उगना शिवालय में जलाभिषेक कार्य पूर्णरूपेण बंद रहने व श्रावणी मेला का आयोजन न होने को लेकर विधि व्यवस्था संधारण हेतु विचार विमर्श की गयी।

बैठक में कहा गया कि बिहार राज्य धार्मिक न्यास परिषद पटना के द्वारा भी यह निदेश प्राप्त है कि श्रावणी पूजा में सोशल डिस्टेंस का पालन होना पूर्णतः संभव नहीं है। जिसके कारण बिहार के सभी शिव मंदिरों में जंहा श्रावणी मेला व जलाभिषेक या कांवर यात्रा का आयोजन किया जाता है उसको पूर्ण रूपेण आगामी 4 अगस्त तक के लिए बंद कर दिया गया है। कोरोना संक्रमण से वचाव को लेकर लोग इस बार सर्व धर्म समभाव के आदर्श एवं मानव धर्म का पालन करते हुए अपने घरों में ही भगवान् का पूजा -पाठ करेंगे।

बताते चले की विगत पच्चीस वर्षो से जिला प्रशासन की देख रेख में भैरवा के उगना शिवालय में जलाभिषेक कार्यक्रम होता रहा है। लेकिन इस कोरोना महामारी को लेकर प्रशासन के द्वारा जलाभिषेक करना संभव प्रतित नहीं हो रहा है। इस संबध में एसडीओ मुकेश रंजन एवं डीएसपी अरुण कुमार सिंह की अध्यक्षता में भैरवा श्रावणी मेला कमिटी के साथ विगत दिनों भी एक बैठक की गयी थी। जिसमे श्रावणी मेला का आयोजन व जलाभिषेक कार्यक्रम नहीं करने पर सहमति बनी थी।

बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार इस वर्ष श्रावणी मेला का आयोजन नहीं होने को लेकर बैनर ,पोस्टर एवं माइकिंग के माध्यम से लोगो को जानकारी दी जायेगी। बैनर एवं पोस्टर भैरवा मंदिर, औंसी जीरोमाइल, बलहा घाट, कोकिल चौक, रथौस हनुमान मंदिर सहित अन्य जगहों पर लगाया जाएगा। रविवार के शाम में ही बलहा घाट का निरीक्षण किया जाय की वंहा पूजा पाठ सामग्री की कोई दुकान न खुले और श्रद्धालु भी वंहा न पंहुचे। इसके बाद प्रथम सोमवारी को पूरी तत्परता के साथ स्थानीय प्रशासन आपसी सामंजस्य से स्थल का निरीक्षण एवं सतर्क रहने का निर्णय लिया गया।

बैठक में बीडीओ अहमर अब्दाली ,बिस्फी थाना अध्यक्ष उमेश कुमार पासवान ,औंसी ओपी अध्यक्ष कुणाल कुमार ,पतौना ओपी ,सीआई वसंत झा ,एसआई मायाशंकर सिंह आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!