SITAMADHI शहीदों की मनायी गयी शहादत दिवस समारोह

चोरौत(सीतामढ़ी) : मिडिल स्कूल बालक परिसर में स्वत्रंता संग्राम आन्दोलन में शहीद हुए चोरौत के लाल भदई कबारी मंडल की सहादत समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का आयोजन समाजसेवी नवल मंडल व नीतीश मंडल ने संयुक्त रूप से किया।

कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर प्रमुख सतीश कुमार ने किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता नीतीश मंडल तथा मंच संचालन समाजसेवी नवल मंडल ने किया मुख्य अतिथि विनोद बिहारी मंडल साहित्यकार रामबाबू नीरव भदई कबाड़ी के वंशज कलीम हैदर, मोहम्मद जसीम उर्फ प्यारे, शकीला खातून, जीनत तारा, चुन्नी बेगम, फेकन मंडल, ओमप्रकाश राय, प्रोफेसर नाजिर अहमद, कमल पाठक, विपिन चौधरी, प्रमोद हाथी, आप नेता गोविंद राय, मोहम्मद सिराजुल, मोहम्मद हारून, नरेश पासवान, मोहम्मद सुभान राइन, गुलाम मुस्तफा, अब्दुल लतीफ, मोहम्मद वारिश, मास्टर रिजवान, विनोद मंडल, वसीम हैदर, ने शहीद भदई कबारी के तैलीय तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

जिला से आए शहीद रामफल मंडल विचार केन्द्र के संयोजक विनोद बिहारी मंडल ने कहा कि 1942 में स्वत्रंता संग्राम आन्दोलन में अंग्रेजी हुकूमत के सिपाही के चोरौत के भदई कबारी गोली से शहीद हो गया। इसी तरह पुपरी के सहदेव साह, महावीर गोप,बुझावन ठाकुर अंग्रेजों के गोली से शहीद हो गए। इसी तरह देश आजाद को लेकर शहीद रामफल मंडल की चर्चा करते हुए कहा कि रामफल मंडल जैसे अमर शहीद भी गुमनाम थे।

वैसे देश भक्त शहीद जिन्नेहोने अंग्रेजों के अफसर को कुलाहारी से हत्या कर दिया तथा अंग्रेजों के अदालत में अपने द्वारा किए गए हत्या स्वीकार कर हंसते हंसते भागलपुर के जेल में फांसी के तख्ते पर झुल गए। ऐसे लोग गुमनाम रहे थे। लेकिन विधान पार्षद देवेश चंद्र ठाकुर ने शहीद रामफल मंडल की प्रतिमा बाजपट्टी लगाकर सम्मानित किया। वक्ताओं ने कहा की शहीद भदई कबारी की प्रतिमा नीमबारी बाजार में बनाने की पहल शुरू करने का संकल्प लिया। वही झटीयाही चौक को भी शहीद चौक रखने की चर्चा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!