मधुबनी डीएम ने कोरोना टेस्ट की धीमी गति को लेकर कई चिकित्सा पदाधिकारियों की लगाई फटकार

कोविड-19 की स्थिति एवं हो रहे टेस्ट की प्रखंडवार की समीक्षा

मधुबनी: जिला पदाधिकारी डाॅ. निलेश रामचन्द्र देवरे द्वारा जिले के सभी प्रखण्ड के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के साथ काविड-19 की स्थिति एवं कराये जा रहे टेस्ट की बिंदूवार समीक्षा विडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से किया. इस दौरान अपर समाहर्ता, उप विकास आयुक्त, सिविल सर्जन, कोविड कन्ट्रोल रूम के प्रभारी पदाधिकरी भी उपस्थित थे. सर्वप्रथम जिला पदाधिकारी ने प्रखण्डवार प्रति एक लाख जनसंख्या पर हो रहे टेस्ट की समीक्षा की गई.

जिसमें जिला के प्रति लाख टेस्ट रेट 3440 है. जबकि बाबुबरही, बेनीपट्टी, बासोपट्टी, बिस्फी, लौकही, मधेपुर, पण्डौल, रहिका एवं राजनगर में औसत से कम होने पर जिला पदाधिकारी द्वारा असंतोष व्यक्त किया गया तथा प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को फटकार लगाई गई. डीएम ने प्रखंडों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को सुझाव दिया कि वे बीडीओ व स्थानीय जन प्रतिनिधियों के सहयोग से टेस्ट की संख्या बढ़ायें. इसके बाद प्रखण्डवार कोविड मरीज की संख्या एवं कोविड पाॅजिटिवीटी रेट की भी समीक्षा की गई. जिसमें बताया गया कि जिला का पॉजिटिविटी रेट मात्र 1%है. जबकि जिला के कतिपय प्रखंड जैसे झंझारपुर, हरलाखी, राजनगर, बेनीपट्टी और खजौली में यह दर लगभग 4 फीसदी है.

डीएम ने इन प्रखंडों में ज्यादा से ज्यादा टेस्ट कराने का सुझाव दिये. साथ ही उनके क्षेत्रों के कन्टेनमेंट जोन को 14 दिनों तक सील कर स्वास्थ्य विभाग के गाइडलाइन का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चिित कराने का भी निर्देश दिया गया. डीएम द्वारा होम आइसोलेट मरीजों की प्रखंडवार समीक्षा की गई. जिसमें बताया गया कि जिला में कूल होम आइसोलेट मरीजों की संख्या 334 एवम् 60 वर्ष से अधिक उम्र के कुल 38 मरीज हैं. जिला पदाधिकारी ने प्रखण्डो के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया कि उनके प्रखण्ड के 60 वर्ष से अधिक उम्र के सभी होम आइसोलेटेड लोगों की विशेष देखभाल की आवश्यकता है.

अंतः उन्हे होम आइसोलेटेड नही रहने दें. उनके बेहतर देखभाल हेतु शीघ्र उन्हे स्थानीय कोविड केयर सेन्टर में भेजें. जिला पदाधिकारी ने राज्य सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग के आदेश के आलोक में जिला में प्रतिदिन 6000 से अधिक टेस्ट के लक्ष्य को स्थानीय जनप्रतिनिधि एवम् आमलोगों की सहभागिता से हासिल सुनिश्चित करने का निर्देश सभी पदाधिकारियों को दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!