साहरघाट में लॉकडाउन की उड़ाई जा रही धज्जियां, 12 बजे तक खुली रही दुकानें

सड़कों व दुकानो पर होती रही आवाजाही


मधवापुर : प्रदेश में कोरोना संक्रमण की बेतहाशा वृद्धि को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा 25 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है। लेकिन लोग साहरघाट बाजार में खुलेआम लॉकडाउन की धज्जियां उड़ा रहे हैं। कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया जाना स्थानीय प्रशासन का दायित्व बनता है, परंतु स्थिति को देखते हुए प्रखंड क्षेत्र में कहीं से भी ऐसा प्रतीत नहीं होता कि यहां लॉकडाउन प्रभावी तरीके से लागू है। पुलिस प्रशासन की सायरन बजते ही दुकानदार अपनी दुकान बन्द कर देते है। जैसे ही थाना प्रशासन वहा से चले जाए तो पुनः अपनी दुकान लगाकर चलाने लगता है। ताजुब तब लगता है जब ग्राहकों को दुकान के अन्दर प्रवेश होता है और बाहर से सटर मे ताला लग जाता है। जैसी ही खरीदारी अन्दर में हो जाए तब बाहर में बैठे दुकानदार का आदमी ताला खोलता है तब बाहर निकाल देता है ।

मगलवार को प्रतिबंध के बावजूद सड़कों पर आमलोगों की आवाजाही जारी रही। वहीं मोटरसाइकिल एवं अन्य छोटे-बड़े वाहनों का परिचालन भी अन्य दिनों की भांति ही देखने को मिला। जबकि 12 बजे तक कई दुकानें पूरी तरह खोलकर भीड़ लगाकर दुकानदारी होती रही। लॉकडाउन की घोषणा के उपरांत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश के तहत कुछ आवश्यक सेवाओं को छोड़ वाहनों एवं पैदल व्यक्तियों का सड़क पर परिचालन पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया गया है। लेकिन आमजन अपनी व अपने जान को जोखिम में डालकर बेवजह सड़क पर निकलने से बाज नहीं आ रहे। इनके अलावा आवश्यक खाद्य सामग्री व फल सब्जी की दुकानों को भी सुबह 10 बजे तक ही लगाने का आदेश है। कतिपय दुकानदार अपनी दुकानों का शटर आगे से लगाकर पिछले रास्ते दुकान चलाते दिख देखे गए। पुलिस वाले अपनी पुरी निष्ठा से काम करते है। परंतु पुलिस गाड़ी सड़क से हटते ही मामला फिर पहले जैसा हो जाता है। ऐसे में जब प्रखंड क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के मामले लगाता बढ़ रहे हैं प्रशासन को लॉकडाउन के संदर्भ में सख्ती बरतनी होगी। वरना हालात बेपटरी होते देर नहीं लगेगी। कोरोना संक्रमण की पुष्टि वाले क्षेत्रों को प्रशासन द्वारा कंटेनमेंट एरिया घोषित नही किया जा रहा जबकी साहर के 6 वार्ड में 10 कोरोना पॉजिटिव केस है। वहां बाहरी लोगों के आवागमन को प्रतिबंधित नही किया जा रहा है।

ADVERTISEMENT

इन कंटेनमेंट एरिया की समुचित सीलबंदी न होने व पुलिस कर्मी की गैरमौजूदगी की वजह से वहां के लोगो को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। अक्सर बाहरी लोगों को बे रोक टोक आना जाना लगा है यहा तक की मुहल्ले के लोग डरे सदमे मे है। इस बावत बेनीपट्टी अनुमंडल पदाधिकारी अशोक कुमार मंडल ने कहा लॉक डाउन के उल्लंघन पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। ऐसे दुकानदारों पर नजर रखी जा रही है। लॉक डाउन के अनुपालन को लेकर प्रशासन पूरी तरह प्रतिबद्ध है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: