पुलिस की लापरवाही के कारण बलात्कार व हत्या जैसी घटनाएं बढ़ रही : अधिवक्ता लाल बाबू ललित

कलुआही थाना प्रभारी का घोर लापरवाही, शराबी अपराधियों को दे रहे संरक्षण

कलुआही : थाना क्षेत्र के मलमल में बीते सोमवार को एक नाबालिक छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर हत्या कर दी गई थी, लेकिन प्रशासन अभी तक किसी भी अभियुक्त को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। जिसको लेकर अधिवक्ता लाल बाबू ललित ने सरकार को घेरते हुए कहा सुशासन सरकार में अफसर तानाशाही को बढ़ावा दी जा रही। जिसका परिणाम यह है की आज छोटी छोटी मासूम बच्चियों के साथ गैंगरेप, हत्या जैसे मामला को अपराधी बेखौफ होकर घटना को अंजाम दे रहे है।

अधिवक्ता ने कहा प्रशासन को चाहिए कि इस मामले में एसआईटी गठित कर स्पीडी ट्रायल हो, अविलंब सभी आरोपितों की गिरफ्तारी की जाए और तेजी से मामले की जांच कर सभी अपराधियों को फांसी की सजा दी जाय ताकि समाज के अपराधियों और असमाजिक तत्वों के सख्त संदेश पहुंचे और ऐसे कृत्य करने से पहले हजार बार सोचे।उन्होंने कहा मुझे लगता है विगत वर्षों में सामाजिक तानेबाने में काफी गिरावट आई है। काफी पहले की बात नहीं है। समाज के किसी भी व्यक्ति की बेटी या बहन पूरे गाँव की बेटी होती थी और लोग उसी तरह का व्यवहार रखते थे। मुझे लगता है कि यह बुनावट कमजोर हो रही है और समाज को इस पर पुनर्विचार की जरूरत है।

दूसरा महत्वपूर्ण पहलू जो गौर किये जाने की जरूरत है वह है किशोरों में नशा करने की प्रवृत्ति। 10- 12 साल के लड़के शराब के गिरफ्त में आ रहे हैं। आप देख लीजिए किसी भी गाँव की हालत। 80% किशोरों को शराब और गांजा की लत है। ऊपर से बेरोजगारी उनको यौन अपराध एवं अन्य आपराधिक कृत्यों में धकेल रही है और इसके विकट परिणाम सामने आ रहे हैं। मलमल की घटना के पीछे भी इन कारकों का ही योगदान है। समाज को इस दिशा में ध्यान देने की जरूरत है।

error: Content is protected !!