कोरोना से मौत मामले में मृतक के आश्रित पत्नी को मिला चार लाख रुपये का अनुग्रह अनुदान

मधुबनी: डीएम डॉ. निलेश रामचन्द्र देवरे ने कोविड-19 संक्रमण के कारण मृत स्व. कामेश्वर चौधरी के आश्रित उनकी पत्नी जगतारण देवी को चार लाख रुपये का अनुग्रह अनुदान मुख्यमंत्री राहत कोष से चेक के माध्यम से दिया। उनके आवास राजनगर के मंगरौनी जाकर दिया गया। मौके पर सदर एसडीओ सुनील कुमार सिंह तथा बीडीओ निवेदिता एवं सीओ उपस्थित थे।

बता दें कि रामपट्टी के कोविड केयर सेंटर में 13 जून को कोविड संक्रमण के कारण राजनगर के मंगरौनी वार्ड नंबर सात निवासी स्व. लालू चौधरी के पुत्र कामेश्वर चौधरी 55 वर्ष की मौत हो गई थी। वे लॉक डाउन के दौरान राज्य के बाहर से आए थे। सरकार के आदेश के अनुसार राज्य में कोविड-19 के कारण मृत व्यक्तियो के आश्रित के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से रुपए चार लाख सहायता राशि भुगतान किया गया है।

वहीं कोरोना से झंझारपुर अनुमंडल में हुई मौत के मामले में मरने वाले के परिजन को चार लाख का चेक सौंपा गया है। मृतक के आश्रित को एसडीओ शैलेश कुमार चौधरी शुक्रवार को मृतक की पत्नी सीता देवी को चेक सौंपा। एसडीओ ने बताया कि अनुग्रह अनुदान देने के लिए उनके घर जाकर चेक दिया गया है। बिहार सरकार के घोषणा अनुरूप कोरोना से मौत के मामले मे चार लाख का अनुग्रह अनुदान देने की घोषणा की गई थी। उसी घोषणा के तहत यह चेक दिया गया है।

बता दें कि झंझारपुर प्रखंड के चनौरागंज निवासी राम किशुन यादव की मौत कोरोना से अनुमंडल अस्पताल में ही हो गई थी। मौत के बाद जांच सैंपल से जानकारी मिली थी कि मृतक कोरोना पॉजिटिव था। उल्लेखनीय है कि झंझारपुर अनुमंडल में एक व्यक्ति की कोरोना से मौत हो गयी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!