लोहट चीनी मिल चालू होने की उम्मीद रह गई अधूरी

मधुबनी। विधानसभा चुनाव 2020 की डुगडुगी बजने ही वाली है। इसको लेकर राजनीतिक दलों ने तैयारी शुरू कर दी है। चुनाव की विधिवत घोषणा से पूर्व स्थानीय जनप्रतिनिधि लोगों का मूड भांपने लगे हैं। विकास कार्यो को लेकर लोग जनप्रतिनिधि के पिछले कार्यकाल के विकास कार्यो को गिनाने लगे हैं। इधर, क्षेत्र की जनता धरातल पर बिजली, पानी, सड़क, स्वास्थ्य समेत अन्य सुविधाओं को टटोलते हुए विकास योजनाओं की लंबी लिस्ट लिए मुखर होने लगी है।

शहरी क्षेत्र के लाभुकों का अपना घर का सपना अधूरा:

मधुबनी विधानसभा क्षेत्र समेत जिले के गन्ना किसानों की अहम मांगों में लोहट चीनी मिल को फिर से चालू करने की बात जस की तस रह गई। इधर, मधुबनी शहर को जलजमाव से निजात दिलाने के दिशा में स्ट्रॉम वाटर ड्रेनेज योजना का तोहफा तो मिला। मगर, इस योजना की धीमी गति से इस वर्ष में पूरा नहीं हो सका। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहरी क्षेत्र के लाभुकों का अपना घर का सपना अधूरा रह गया। शहर में हर घर नल जल योजना के दम तोड़ने से पेयजल संकट पर काबू नहीं पाया जा सका। हालांकि, शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों के निर्माण योजना की स्थिति संतोषजनक कही जा सकती है।

अफसरशाही की चंगुल में दम तोड़ रहीं विकास योजनाएं:

विधानसभा क्षेत्र के जगतपुर गांव निवासी मोहन मंडल ने बताया कि मधुबनी विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए जनप्रतिनिधियों का प्रयास तो संतोषजनक रहा है। मगर, अफसरशाही की चंगुल में फंसीं विकास योजनाओं का लाभ लोगों तक नहीं पहुंच पा रहा है। शहर के राजाराम साह ने बताया कि शहरी क्षेत्र से जलजमाव की समस्या दूर करने की दिशा में स्ट्रॉम वाटर ड्रेनेज योजना की दुर्गति किसी से छिपी नहीं है। राशि आवंटन के बाद भी बुडको की इस योजना की गति धीमी रही है। शहर के अमित कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहर के सैकड़ों लाभुकों को अनुदान राशि का भुगतान डेढ़ वर्षो से लंबित होने से अपना घर नसीब नहीं हो रहा है।

नगर विधायक ने सदन में उठाए अनेक मामले:

नगर विधायक समीर कुमार महासेठ द्वारा विधानसभा क्षेत्र के विकास से जुड़े अनेक मुद्दे सदन में उठाए गए। इसमें से कई योजनाएं धरातल पर देखने को मिल रही हैं। जबकि, कई मामलों में विभागीय प्रक्रिया की गति धीमी देखी जा रही है। कुछ योजनाओं पर कार्य शुरू किया गया। वहीं, कई मसले सरकार के पास विचाराधीन है।

सदन में उठे ये मामले :

  • – लोहट चीनी मिल को चालू करने का मामला
  • – शहर के गिलेशन में मछली बाजार का निर्माण
  • – शहरी क्षेत्र को जाम से निजात के लिए शहर के बीचोंबीच संचालित निजी बस स्टैंड का शहर से बाहर स्थानांतरण
  • – शहर को जलजमाव से निजात के लिए वाट्सन, किग्स व राज केनाल का सुदृढ़ीकरण
  • – ग्रेटर मधुबनी बनाने की मांग
  • – शहर के महाराजगंज स्थित विद्युत शवदाह गृह को चालू करने के संबंध में
  • – शहर स्थित खादी ग्रामोद्योग के एक सौ से अधिक जर्जर भवनों का नव निर्माण
  • – बिहार में निशक्तजनों को सरकारी नौकरियों में छह प्रतिशत आरक्षण
  • – शहर में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) की स्थापना
  • – मधुबनी पेंटिग, सिक्की पेंटिग, गोबर पेंटिग कलाकार के लिए ट्रेनिग सेंटर की स्थापना व प्रतिवर्ष प्रदर्शनी का आयोजन
  • – जिले के सौराठ गांव में मधुबनी पेंटिग विश्वविद्यालय की स्थापना
  • – शहर में बुनकरों को बड़ी संख्या को देखते हुए हैंडलूम उत्पादन एवं बिक्री केंद्र की स्थापना
  • – सदर अस्पताल को जिला का पांच सौ बेड वाला अस्पताल बनाने का प्रस्ताव
  • – शहर में वेंडर जोन बनाने के संबंध में
  • – शहर को सुबह नौ से रात्रि नौ बजे तक नो एंट्री जोन घोषित करने
  • – पंडौल में इंडोर व आउटडोर स्टेडियम निर्माण
  • – शहर में कचरा प्रोसेसिग प्लांट की स्थापना
  • – पंडौल, रहिका प्रखंड के सभी कॉलेजों, उच्च विद्यालयों एवं सड़क किनारे पौधारोपण
  • – मधुबनी स्टेडियम का जीर्णोद्धार
  • – पंडौल के लक्ष्मीपुर मकसूदा में स्टेडियम निर्माण
  • – मधुबनी में ट्रॉमा सेंटर की स्थापना
  • – शहर में रिक्शा, ई-रिक्शा, ऑटो के लिए पड़ाव का निर्माण
  • – डीएमसीएच, दरभंगा में कैंसर विभाग को शुरू करने की मांग
  • – शहर में मंदबुद्धि आवासीय विद्यालय की स्थापना
  • – मधुबनी में अंतरराज्यीय बस स्टैंड का निर्माण
  • – मधुबनी में ट्रैफिक थाना की स्थापना।
  • – जेएमडीपीएल महिला कॉलेज सहित अन्य अंगीभूत कॉलेजों के शिक्षकों को उच्चतम न्यायालय के आदेश के आलोक में वेतन भुगतान की मांग
  • – गिलेशन बाजार को वेंडिग जोन बनाने के संबंध में
  • – मधुबनी में कैंसर केयर यूनिट की स्थापना
  • – मधुबनी के फायर स्टेशन को अपना भवन व अत्याधुनिक वाहन आपूर्ति

बोले विधायक :

’16वीं विधानसभा में अबतक 15 सत्र हुए हैं। कोरोना संकट को लेकर 16वें सत्र पर संशय बना है। क्षेत्र के विकास से जुड़े मामलों के अलावा राज्य के अन्य हिस्सों से जुड़े जनहित मामलों को मैंने सदन में उठाकर अबतक का प्रयास जनता के सामने है। क्षेत्र के विकास के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है।’

– समीर कुमार महासेठ, नगर विधायक

Input: Jagran

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!