प्रखंड प्रशासन के लचर रवैये से अतिरिक्त बीएलओ की बढ़ी परेशानी

  • बीएलओ ने जतायी नाराजगी, कहा सुबह से अधिकारी और कर्मी के आने के इंतजार में खड़े हैं
  • बीते लोकसभा चुनाव में मिली ड्यूटी का भी अब तक पारिश्रमिक राशि भुगतान नही होने की कही बात
फोटो:- बेनीपट्टी प्रखंड कार्यालय परिसर में नाराजगी जाहिर करते वैकल्पिक बीएलओ

बेनीपट्टी (मधुबनी): प्रखंड कार्यालय परिसर में शुक्रवार को करीब एक सौ बीएलओ ने प्रखंड प्रशासन के लचर रवैये के खिलाफ नाराजगी जाहिर की. ये वे अतिरिक्त बीएलओ थे जिन्हें स्थायी बीएलओ जो दूसरे स्थान पर मतदान कराने जा चुके हैं उनके जगह पर इनको तैनात किया गया है. इन सभी को शुक्रवार को मोबाइल मैसेज भेजकर सुबह 10 बजे ही प्रखंड कार्यालय में बुला लिया गया लेकिन सुबह दस से ढाई बजे दिन तक किसी अधिकारी या संबंधित कर्मियों का दर्शन दुर्लभ था.

Advertisement

लिहाजा वे सभी इधर उधर भटकने को विवश थे. जिनमें अधिकांशतः महिलायें थीं. इन सभी के बैठने के लिये न तो कोई व्यवस्था ही की गयी थी न ही संबंधित निर्देश का कोई अधिकृत पत्र ही सौपा गया था. जबकि इन्हें अपने आवंटित मतदान केंद्र के मतदाताओं के बीच मतदान पर्ची का वितरण भी करने और मतदान के दौरान मतदान केंद्र पर मौजूद रहकर पर्दानशी मतदाताओं की पहचान भी सुनिश्चित करनी है.

कई बीएलओ ने कहा कि अभी तक न तो कोई आदेश पत्र न ही मतदाता सूची आदि ही उपलब्ध कराया गया है. फोन करने पर न तो एसडीएम और न ही बीडीओ कोई रेस्पांस ले रहे हैं. हमलोग क्या करें और क्या नही कुछ समझ में नही आता. काफी दूरी तय कर आये हैं और वाहन नही मिलने पर अपने घर लौटने में भी परेशानी बढ़ेगी. सभी बीएलओ ने प्रखंड प्रशासन पर यह भी आरोप लगाया कि पिछले वर्ष संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में भी हमलोगों से बतौर वैकल्पिक बीएलओ के रूप में मतदान केंद्रों पर ड्यूटी करायी गयी थी और 5 सौ रुपये सभी बीएलओ को दिया जाना था जो अब तक नही दिया गया.

एक ओर महिला सशक्तिकरण की बात कही जा रही है तो दूसरी ओर महिलाओं का शोषण अधिकारियों द्वारा की जा रही है. काफी हो हल्ला के बाद निर्वाचन प्रशाखा में तैनात एक कर्मी करीब तीन बजे पहुंचे जहां ये सभी लोगों ने मतदाता सूची और आदेश पत्र के साथ पारिश्रमिक राशि देने की मांग की तो उन्होंने मतदाता सूची और आदेश पत्र तो उपलब्ध करा दिया लेकिन पारिश्रमिक राशि के भुगतान के संबंध में बीडीओ से बात कर लेने की बात कहकर टाल दिया.

अब सवाल है कि जब बीडीओ इन सभी के फोन का कोई रेस्पांस ही नही लेते हैं तो भुगतान की जानेवाली राशि कब मिलेगी या नही मिलेगी यह कौन बता सकता है. इन सभी बीएलओ ने कहा कि अधिकारियों ने पिछले चुनाव का हमलोगों के पारिश्रमिक राशि हजम कर गये और इस बार भी हजम करने की मंशा पाल रखे हैं. मौके पर शिक्षिका वैदेही कुमारी, तस्लीमा खातुन, ज्योति कुमारी, गीतू कुमारी, ममता कुमारी, गुड़िया कुमारी, बेबी कुमारी, तत्क्षण कुमारी, कुमारी रजनी, पद्मा कुमारी व गिन्नी कुमारी सहित अन्य लोग भी मौजूद थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!