BENIPATTI : महमदपुर पहुंचा राजद नेताओं का शिष्टमंडल, पीड़ितों मिलकर जतायी संवेदना

वक्ताओं ने कहा :सूबे में बेपटरी हुई कानून व्यवस्था

घटना में शामिल अपराधियों और लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की भी मांग की

बेनीपट्टी : थाना के महमदपुर गांव में होली के दिन घटित गोलीबाड़ी में हुई हत्याकांड के पीड़ित परिजनों से शनिवार को राजद नेताओं का एक प्रतिनिधि मंडल मिलकर संवेदना व्यक्त की और पीड़ित परिवार का ढांढस बढ़ाया. प्रतिनिधि मंडल में शामिल राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व विधायक सह किसान प्रकोष्ट के वरीय प्रदेश उपाध्यक्ष सीताराम यादव, प्रदेश महासचिव रामबहादुर यादव, किसान प्रकोष्ट के जिला अध्यक्ष प्रो. देवनारायण यादव व सीतामढ़ी जिले के परिहार विधानसभा के राजद प्रत्याशी रहे सिंहवाहिनी पंचायत की मुखिया ऋतु जायसवाल सहित राजद के अन्य नेताओं व कार्यकर्ताओं ने महमदपुर गांव पहुचकर वहां हुए जघन्य हत्याकांड पर गहरा दुःख जताया.

बेनीपट्टी के महमदपुर में परिजनों से मिलकर संवेदना व्यक्त करते राजद का प्रतिनिधि मंडल

साथ ही सरकार एवं प्रशासन से निष्पक्ष जांच के लिये थाना प्रभारी और डीएसपी को शीघ्र बर्खास्त कर हत्यारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है. वक्ताओं ने कहा कि महमदपुर गांव में पूर्व सैनिक सुरेंद्र सिंह के तीन पुत्र सहित पांच लोगों को गोली मारकर हत्या कर दी गयी. इस घटना की जितनी निदा की जाये, कम है. अपराधियों ने इस घनी आबादी के बीच तांडव किया है और पुलिस प्रशासन मूंह ताकते रह गयी. सत्ता के दवाब में पुलिस अब तक मुख्य आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर सकी है और अब तक प्रशासन द्वारा अपराधियों को बचाने के लिए कभी मछली विवाद, तो कभी जमीनी विवाद तो फिर कभी आपसी बर्चस्व बताकर मामला को दबाने का प्रयास किया जा रहा है. जबकि घटना स्थल पर न तो कोई तालाब है, न ही इन परिवार से कहीं कोई जमीनी विवाद या आपसी बर्चस्व का मामला ही सामने आया है.

ADVERTISEMENT

दरभंगा प्रक्षेत्र के आइजी द्वारा पीड़ित परिवार से मिले बिना ही प्रेस के माध्यम से जूठी जानकारी शेयर करना कही न कही प्रशासन पर सत्ता का बढ़ता दवाब नजर आ रहा है. इसीलिये राजद इस घटना का सीबीआई या फिर एसआईटी से जांच करवाने का मांग करती है. राजद नेताओ ने कहा है कि अपराधियों की न कोई जाति होती है ना धर्म. हत्याकांड में शामिल सभी लोगों को गिरफ्तार कर जल्द से जल्द स्पीडी ट्रायल कराकर फांसी की सजा दिलाई जाये और पीड़ित परिवार के परिजनों को मुआवजा के साथ सरकारी नौकरी दिया जाये. प्रशासन समय से इस मामले को गंभीरता से लेता तो इस घटना को रोका जा सकता था. इस घटना के पीछे पुलिस प्रशासन की लापरवाही स्पष्ट है. होली के दिन अपराधी के द्वारा षडयंत्र के तहत इस अमानवीय घटना को अंजाम दिया गया है. इस हत्याकांड में सरकार को जिम्मेवारी लेनी होगी. सूबे में कानून व्यवस्था बेपटरी हो गयी है.

मौके पर राजद नेत्री सह परिहार विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी ऋतु जयसवाल, राजद जिला प्रवक्ता इंद्रजीत राय, कृष्णदेव यादव, अरुण कुमार यादव, दशरथ यादव, अशोक यादव, राकेश कुमार व राजेश कुमार यादव सहित दर्जनों नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे.

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: