लॉकडाउन खुलने के बाद सामुहिक भोज, पार्टी, रेस्टोरेंट, होटल, मॉल में जाने पर बरतें सावधानी

संक्रमण के मद्देनजर खुले बाजार में बिक रहे चाट पापड़ी, गोलगप्पे, लिट्टी व हाथ से स्पर्शित चीज़ों को न खाये- डॉ. एससी झा

होटल, रेस्टोरेंट व सामुहिक भोज में शाक व सलाद न खाएं, खुला पानी पीने से करें परहेज़

घर से बाहर निकलने पर पॉकेट में सैनिटाइजर रखने की डाले आदत, पहने मास्क

दरभंगा: लॉकडाउन खुलने के बाद जनजीवन सामान्य होती जा रही है. सभी लोग अपने कामकाज में जुट गए हैं, लेकिन इस परिदृश्यय में भी कोरोना संक्रमण का खतरा बरकरार है. लिहाजा संक्रमण से बचाव के लिये हमेशा मास्क पहनने की ज़रूरत है, साथ ही पॉकेट में हमेशा सैनिटाइजर रखें एवं संक्रमण से बचाव के लिए और भी एहतियातन कदम उठाने चाहिए. इसे लेकर लोग जागरूक भी हुए हैं. डीएमसीएच के मेडिसिन विभाग के वरीय चिकित्सक डॉक्टर सुधीर चंद्र झा ने बताया अभी भी संक्रमण से बचाव को लेकर लोगों को जागरूक करना जरूरी है.

खासकर भीड़भाड़ वाले इलाकों जैसे होटल, रेस्टोरेंट, मॉल, पार्टी, सामूहिक भोज आदि में लोगों को अभी भी सतर्क रहना जरूरी है, ताकि कोरोना संक्रमण से बचाव किया जा सके. कहा कि ऐसा देखा जा रहा है की लॉकडाउन खुलने के बाद लोग लापरवाही बरत रहे हैं. लोगों के मन में संक्रमण को लेकर डर कम हुआ है, जो खतरनाक साबित हो सकता है. लोग बगैर सावधानी बरतें हुए पार्टी, रेस्टोरेंट, सामूहिक भोज में शामिल हो रहे हैं. लिहाजा इस परिस्थिति में संक्रमण का फैलाव हो सकता है. जरूरी है कि इन जगहों पर जाने से पूर्व संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक कदम उठाएं ताकि खुद वह दूसरों को भी कोरोना संक्रमण से बचा सके.

अति आवश्यक होने पर ही सामूहिक भोज में हो शामिल, खाएं गर्म खाना
डीएमसीएच के मेडिसिन विभाग के वरीय चिकित्सक डॉ. एस सी झा ने कहा सावधानी नहीं बरतने पर कोरोना वायरस भीड़ भाड़ इलाकों में काफी खतरनाक साबित हो सकता है. इसलिए जरूरी है कि हमेशा सतर्क रहें. खासकर इस समय भीड़भाड़ वाले इलाकों से जाने से परहेज करना चाहिए. अत्यंत जरूरी होने पर ही होटल रेस्टोरेंट, पार्टी या सामूहिक भोज में शामिल होना चाहिए. डॉक्टर झा ने यह भी कहा है कि कोरोना वायरस का खतरा अभी टला नहीं है. इसलिए लोगों को अभी सावधानी बरतनी चाहिए.

ADD

इस दरमियान खुले बाजार में बिकने वाले हाथ से मिलाए गए खाद्य पदार्थों को नहीं खाना चाहिए. चाट पापड़ी, गोलगप्पा व अन्य सामान हाथ से मिलाकर ग्राहकों को परोसे जाते हैं, जो कोरोना संक्रमण के मद्देनजर खतरनाक साबित हो सकता है. इससे लोग कोरोना संक्रमित हो सकते हैं. साथ ही सामूहिक भोज में शामिल होने पर सलाद भी नहीं खाना चाहिए. बताया कि भोज में शामिल होना पड़े तो डिस्टेंसिंग बनाना उचित है. अनावश्यक रूप से बातचीत से दूर रहें. भोज में खुले ट्राम में रखे पानी को ना पिएं.

अच्छा होगा कि बोतल का पानी या घर पर ही आकर पानी का सेवन करें. भोज में गर्म खाना ही खाएं. खाने से पूर्व या बाद में मास्क पहन ले एवं तुरंत हाथ को सैनिटाइजर या साबून से साफ कर ही अपने घर जाए. इससे हम एक हद तक संक्रमण से बचाव कर सकते हैं. घर जाने पर बेहतर होगा कि स्नान कर ले. अन्यथा संक्रमण से बचाव के लिए पहने हुए कपड़े को दूर रखें. हाथ पैर को अच्छी तरह से साबुन से साफ कर, कमरे में प्रवेश करना ठीक होगा.

कोरोना से ऐसे करें बचाव
व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
ज़रूरत के अनुसार साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!