पृथ्वी दिवस पर बेनीपट्टी के कई जगहों पर पौधारोपण और पर्यावरण संरक्षण को ले किया जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

बेनीपट्टी : बिहार पृथ्वी दिवस के अवसर पर बेनीपट्टी प्रखंड के कई जगहों पर पोधारोपन व पर्यावरण सरक्षंण पर कार्यक्रम आयोजित किये गए। रविवार को भी किसान जागरुकता विकास समिति के तत्वावधान में कार्यालय परिसर में पौधा वितरण सह पर्यावरण संरक्षण जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें समिति के सचिव कमल कुमार झा के द्वारा आम, कटहल, नीम, बरगद, जामुन, केला, पपीता, गुलाब फूल, चिरायता, तेखुर, सतावर, सोहिजन का बीज, बेल, अड़हुल फूल, आंवला, कनैल फूल, शिशम व अमरूद सहित अन्य 5 सौ से अधिक पौधे का वितरण किया गया। जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए लोगों के बीच में नि:शुल्क वितरण कर खाली जगहों में पेड़-पौधा का रोपण भी किया गया है।

तत्पश्चात जागरूकता शिविर का आयोजन कर पर्यावरण संरक्षण पर बल दिया गया। इस दौरान श्री झा ने कहा कि देश को हरा-भरा रखने का सतत् प्रयास किया जा रहा है। आज के समय में पूरी दुनिया में सबसे बड़ी समस्या पर्यावरण प्रदूषण की है। पर्यावरण प्रदूषित होने के कारण आये दिन हमें विभिन्न प्रकार के प्राकृतिक आपदाओं से जूझना पड़ रहा है। पर्यावरण संतुलन के लिये पौधारोपण बहुत जरूरी है। पेड़-पौधा से ऑक्सीजन ,फल-फूल, लकड़ी सहित आदि की प्राप्ति होती है। प्राकृतिक संतुलन के लिये मनुष्य, जीव- जंतु ,पशु-पक्षी एवं पेड़-पौधों के बीच पारस्परिक सार्थक संबंध होना अनिवार्य है। हम सबको अधिक से अधिक पेड़-पौधे लगाकर ग्लोबल वार्मिंग सहित कई समस्याओं का बचाव करने की जरुरत है।

उधर प्रखंड के बरहा गांव में ट्राइडेंट सेवा के तत्वावधान में पृथ्वी दिवस के अवसर पर पौधरोपण किया गया। पौधरोपण कार्यक्रम में कई फलदार पौधे लगये गये। इस दौरान पर्यावरण व प्रकृति के प्रति लोगों को जागरूक करते हुए प्रदेश अध्यक्ष विवेकानंद ठाकुर ने ग्रामीणों से भी आगे आकर एक पौधा अवश्य लगाने की अपील की। कहा कि अगर क्षेत्र का हर नागरिक एक पौधा लगायेगा और उसकी सही देखभाल करेगा तो यह क्षेत्र ही नहीं बल्कि पूरा जनपद हमेशा प्राकृतिक आपदाओं और सूखे की मार से बचा रहेगा। पृथ्वी संरक्षित होगी तो मानव जीवन भी सुरक्षित होगा। पर्यावरण को बचाने के लिये कागज का इस्तेमाल कम से कम करना चाहिए व ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने चाहिए। पृथ्वी हमारी धरोहर है इसे हम सभी को संभाल कर रखना हमारा कर्तव्य है।

उन्होंने कहा कि वृक्ष ही मनुष्य को जीवन प्रदान करता है वृक्ष पर्यावरण के मित्र होते है इससे स्वच्छ, वायु व जल सहित आदि प्राप्त होती है. प्राकृतिक संतुलन के लिये पौधारोपण बहुत जरूरी है। हरा पेड़ काटने से परहेज करने की जरुरत है। पृथ्वी बचाये रखने के लिए प्राकृतिक संतुलन बनाये रखना अतिआवश्यक है। अतः आज हम लोग संकल्प लेते है कि अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु प्रकृति से छेड़-छाड़ नहीं करेंगे।

वहीं अकौर के केसुली गांव में भी जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव मो. वसीम ने कई पौधे लगाकर सभी कार्यकर्ताओं और लोगों से अधिक से अधिक भूभाग में पौधारोपण कर पृथ्वी को बचाये रखने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!