आंगनबाड़ी सेविका सहायिकाओं ने सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने सहित अपनी 17 सूत्री मांगों को लेकर किया धरना प्रदर्शन

मधवापुर (मधुबनी): प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित बाल विकास परियोजना कार्यालय के बाहर बिहार राज्य आंगनवाड़ी कर्मचारी यूनियन (एटक) के तत्वावधान मे प्रखंड क्षेत्र के सैकड़ो आंगनवाड़ी सेविका-सहायिकाओं ने सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने सहित अपनी 17 सूत्री मांगो के समर्थन में धरना प्रदर्शन किया। यूनियन के प्रखंड अध्यक्ष रीता देवी के नेतृत्व में आयोजित इस कार्यक्रम में सेविकाओं ने जमकर नारेबाजी की।

धरना को संबोधित करते हुए यूनियन की सचिव कविता कुमारी ने कहा कि सरकार सेविका और सहायिका को सरकारी कर्मी का दर्ज दें. लंबे दिनों से कार्यरत सेविकाओं को पर्यवेक्षिका और सहायिकाओं को सेविका के पद पर शत प्रतिशत पदोन्नति करने का काम करें। सरकार द्वारा जबतक उनकी मांगों पर विचार नहीं किया जाएगा तबतक चरणबद्ध रूप से सेविकाओं का आंदोलन जारी रहेगा।

उनकी मुख्य मांगो में आईसीडीएस के तहत आनेवाली सेवाओ के अलावे कोई अतिरिक्त सेवा नही लेना, टीकाकरण की प्रोत्साहन राशि का भुगतान पहले की ही तरह करने, सेविका व सहायिका को सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने, लंबित मांगो का शीघ्र निष्पादन करने, देश के दूसरे राज्यो की तरह सेविका व सहायिका को अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि दिया देने, सेवानिवृति के पश्चात मासिक पेंशन व बीमा का लाभ सुनिश्चित करना शामिल है।

कार्यक्रम के अंत मे 5 सदस्यीय शिष्टमंडल द्वारा आईसीडीएस कार्यालय के प्रधान सहायक विनय कुमार विश्वास को मांग पत्र सौंपा गया। धरना में उषा रानी, रेणु देवी, कविता कुमारी, कमलेश कुमारी, संगीता देवी, पुष्पा झा, ललिता भारती, रेखा देवी, सरोज कुमारी, सुकुमारी कुमारी, रीना कुमारी, रिंकू कुमारी, अनुराधा कुमारी सहित सैकड़ो सेविका व सहायिका शामिल थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!