छठ घाटों पर रहेगी प्रशासन की नजर

घाटों पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का नही होगा आयोजन

बेनीपट्टी: छठ महापर्व को लेकर बेनीपट्टी थाना परिसर में सभी अधिकारियों और प्रबुद्धजनों के साथ एसडीएम अशोक मंडल की अध्यक्षता में शांति समिति की बैठक हुई. जिसमें छठ पर्व के दौरान कोरोना संक्रमण के मद्देनजर रखते हुए सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन का अनुपालन कराने और विधि व्यवस्था बनाये रखने पर चर्चा की गयी.

फोटो :- बेनीपट्टी थाना परिसर में आयोजित शांति समिति की बैठक में भाग लेते एसडीएम अशोक कुमार मंडल, एसएचओ व अन्य

एसडीएम ने घाटों की साफ सफाई कराये जाने के लिए स्थानीय यूवाओं को प्रेरित किया. उन्होंने कहा कि पर्व के दौरान एहतियातन के तौर पर सभी निर्देशों का पालन सुनिश्चित करना आवश्यक है, जिसमें आप सभी प्रबुद्धजनों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और समिति के सदस्यों की भूमिका अहम होगी. किसी भी हाल में भीड़भाड़ का हिस्सा बनने से बचें और लोगों को बचाने का काम करेंगे. घाटों पर सेनेटाइजिंग की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे और सामाजिक दूरी मेंटेन करने में सजग रहने की जरूरत है.

ADVERTISEMENT

मास्क का प्रयोग जरूर करेंगे और संभव हो तो अधिक से अधिक लोग अपने घरों में ही छठ पर्व मनाने का काम करेंगे. तालाब नदी किनारे वाले घाटों में यह ध्यान रखें कि बच्चे, बुजुर्ग और बीमार व्यक्ति पानी में डुबकी लगाने से परहेज करेंगे. सरकारी दिशा निर्देश के अनुसार इस बार छठ घाटों पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन नही होगा नही प्रसाद वितरण ही किये जायेंगे. उन्होंने कहा कि पीएचसी के द्वारा चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी.

ADVERTISEMENT

वहीं एसडीएम ने पर्व से पूर्व तालाब के किनारे बांस बैरेकेटिंग लगवाये जाने और रोशनी की मुकम्मल व्यवस्था करने, अतिसंवेदनशील घाटों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाने, सभी अतिसंवेदनशील छठ घाटों पर दंडाधिकारी के साथ पुलिस बल की तैनाती किये जाने का निर्देश बेनीपट्टी थाना के एसएचओ महेंद्र कुमार सिंह को दिया और आयोजन समिति के सदस्यों को देते हुए विशेष रुप से निगरानी किये जाने की हिदायत दी.

ADVERTISEMENT

उन्होंने कहा कि घाट के समीप किसी भी हाल में पटाखे की बिक्री नही होगी. एसडीएम ने पर्व के दौरान पीएचसी परिसर में चिकित्सकों की तैनाती करने व एंबुलेंस को तैनात रखे जाने का भी निर्देश प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी को देने के साथ ही मौजूद अधिकारियों को पर्व को लेकर एहतियातन बरते जाने समेत आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया. सभी तालाब घाटों पर जहां पर्व होना है, पर दिशा निर्देश जारी करते हुए कहा उन सभी घाटों पर बांस बल्ले के सहारे बैरेकेटिंग कराने की जरुरत है

और पानी की गहराई या अन्य आवश्यक जानकारी को लेकर हमेशा ध्वनि विस्तारक यंत्र के जरीये प्रचार प्रसार कर हादसे पर नियंत्रण रखने की भी आवश्यकता है. छठ पर्व मिथिलांचल का सर्वाधिक महत्वपूर्ण पर्व है. पर्व को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने में सभी लोग प्रशासन को अपेक्षित सहयोग प्रदान करेंगे. वहीं एसएचओ महेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि पर्व को लेकर सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त रहेगा और अनुमंडल प्रशासन बारीकी से छठ घाटों पर नजर रखेगी. पर्व के दौरान उपद्रव फैलाने वाले असामाजिक तत्वों से प्रशासन सख्ती से निबटेगी. उन्होंने पर्व के दौरान खाली पड़े घर की सतत निगरानी करने की आवश्यकता पर भी बल दिया.

बताते चलें कि बेनीपट्टी थाना क्षेत्र के संसारी पोखर, गंभहरिया घाट, गंगुली घाट, बसैठ घाट, केसुली, धोबीटोल, सरिसव, पाली घाट, शाहपुर घाट व करहारा स्थित धौंस सहित एक सौ से अधिक घाटों को चिन्हित किया गया है, और कई घाटों को अतिसंवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है, जहां छठ पर्व मनाया जाना है. मौके पर पैक्स अध्यक्ष प्रेम शंकर राय, धर्मेद्र साह, विजय यादव, पंसस अनिल झा, मुखिया मो. आलम अंसारी, पंसस मदन कुमार, एएसआइ शेषनाथ, संजीत कुमार, सदन कुमार, राजू गुप्ता, पवन कुमार, अनुराग सहनी, देवेंद्र यादव व नीलांबर गुप्ता सहित अन्य लोग भी मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!