शराब तस्करी के छापेमारी करने पहुंची पुलिस की कार्यशैली से नाराज ग्रामीणों ने पुलिस को खदेड़ा

ग्रामीणों ने तस्कर का नाम बताने, गवाह के कागजातों पर हस्ताक्षर करने से इनकार करने पर पिटाई करने का पुलिस पर लगाये आरोप

पुलिस ने आरोप को गलत बताया

बेनीपट्टी : स्थानीय थाना के बनकट्टा गांव में थाना पुलिस द्वारा शराब तस्करी की छापेमारी करने के दौरान पुलिस की कार्यशैली से नाराज ग्रामीणों द्वारा पुलिस को खदेड़े जाने का मामला सामने आया है. मिली जानकारी के अनुसार राज्य मुख्यालय से प्राप्त सूचना व दिशा-निर्देश के आलोक में प्रशिक्षु डीएसपी सह बेनीपट्टी एसएचओ राकेश कुमार रंजन के नेतृत्व में पुलिस उक्त गांव में बुधवार की सुबह उमेश महतो के घर में शराब तस्करी की छापेमारी करने पहुंची थी.

new
ADVERTISEMENT

छापामारी टीम में एसआइ मृत्युंजय कुमार व एएसआइ संजीत कुमार सहित अन्य पुलिस बल शामिल थे. छापामारी के दौरान उमेश महतो के घर से पुलिस ने 46 बोतल नेपाल निर्मित देशी व 6 बोतल विदेशी शराब बरामद भी की. उस घर के सभी सदस्य पुलिस की गिरफ्त में आने से पहले से घर छोड़कर भाग निकले. उधर शराब बरामदगी के बाद पुलिस कर्मियों की टीम आरोपी के घर के सामने वाले संतोष पासवान के दरवाजे पर आकर गृहस्वामी श्री पासवान से तस्कर का नाम पूछने लगी और गवाह के कागजातों पर हस्ताक्षर करने का दबाब बनाने लगी. जिससे गृहस्वामी ने इनकार कर दिया. इनकार करने पर पुलिस कर्मियों ने संतोष पासवान के गर्दन पर हाथ रखकर धक्का मारना शुरू कर दिया. यह देख संतोष पासवान के पुत्र राजू पासवान ने जब अपने पिता के साथ पुलिस के द्वारा की जा रही बदसलूकी का विरोध किया तो पुलिस ने राजू की भी पिटाई कर दी.

ADVERTISEMENT

इतना ही नहीं पुलिस ने बनकट्टा गांव स्थित अपने ससुराल आये साहरघाट थाना के पोखरौनी गांव के इंद्रेश पासवान की भी पिटाई कर दी. इस दौरान बड़ी संख्या में अगल-बगल के लोग पहुंच चुके थे, जो पुलिस की कार्यशैली देख आक्रोशित हो गये और पुलिस को खदेड़ना शुरू कर दिया. आगे-आगे पुलिस व पुलिस की गाड़ी भाग रही थी और पीछे-पीछे लोगों की भीड़ पुलिस को खदेड़ रही थी. पुलिस लोगों के आक्रोश और भीड़ द्वारा खदेड़ने के कारण कुछ पुलिस कर्मी तेजी से पांव-पैदल व कुछ अपनी गाड़ी के साथ मौके भाग खड़ी हुई. राजू का आरोप है कि उनके पिता के साथ पुलिस अकारण बदसलूकी कर रही थी. जिसका विरोध किये जाने पर पिता पुत्र दोनों को पुलिस ने पिटाई कर दी. इतना ही नहीं उनके घर के बगल वाले घर में अपने ससुराल आये एक कुटुंब की भी पिटाई कर दी. पुलिस की पिटाई का शिकार हुए सभी लोगों का कहना है कि थाना पुलिस की इस गलत कार्यशैली की शिकायत पुलिस-प्रशासन के वरीय अधिकारियों से भी करेंगे.

ADVERTISEMENT

इस बाबत पूछने पर प्रशिक्षु डीएसपी सह एसएचओ राकेश कुमार रंजन ने बताया कि तस्करों के नाम पूछने और गवाह के कावजातो पर जबरन हस्ताक्षर कराने का आरोप गलत है. छापामारी करने के दौरान कुछ लोगों ने बाधा उत्पन्न किया और सरकारी कार्य में हस्तक्षेप किया. शराब बरामदगी को लेकर तस्कर के घर में पुलिस के द्वारा की गयी छापामारी कुछ लोगों को नागवार गुजरा. बाधा उत्पन्न करने वाले लोगों को चिन्हित कर विधि-सम्मत कार्रवाई की जायेगी.

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: