यक्ष्मा एक जानलेवा बीमारी है, बचाव को लेकर रहे सतर्क

उन्मूलन को लेकर बेनीपट्टी पीएचसी में सेमिनार का आयोजन

वक्ताओं ने कहा : जन जागरूकता से टीवी हारेगा, देश जीतेगा

बेनीपट्टी : प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में यक्ष्मा उन्मूलन को लेकर पीएचसी प्रभारी डॉ. एसएन झा की अध्यक्षता में सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसमें यक्ष्मा के लक्षण, बचाव और इलाज के विषय में विस्तार से जानकारी देते हुए अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने पर जोर दिया गया। इस दौरान पीएचसी प्रभारी डॉ. झा ने कहा कि यक्ष्मा एक संक्रामक और जानलेबा बीमारी है।

ADVERTISEMENT

इसकी सही से देखभाल नही करने पर मरीज की जान भी जा सकती है। पोलियो की तरह इसके उन्मूलन को लेकर सरकार और स्वास्थ्य विभाग द्वारा व्यापक अभियान चलाया जा रहा है। इस क्रम में आशा कार्यकर्ताओं और स्वास्थ्यकर्मियों के बीच सेमिनार के माध्यम से क्षेत्र में जनजागरूकता अभियान चलाकर लोगों को जागरूक करने हेतु प्रेरित किया जा रहा है। यक्ष्मा से पीड़ित मरीज की पहचान कर पीएचसी में इलाज करवाने पर न केवल पीड़ित को मुफ्त इलाज और दवा उपलब्ध कराया जायेगा, बल्कि उनको आर्थिक रूप से भी प्रोत्साहित किया जायेगा। इसके अलावे ऐसे मरीजों को चिन्हित कर स्वास्थ्य केंद्र तक पहुंचाने वाले आशा कार्यकर्ता या ग्रामीण चिकित्सक जो भी होंगे उन्हें भी प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी।

ADVERTISEMENT

वहीं जिला यक्ष्मा केंद्र से आये वरीय चिकित्सा पर्यवेक्षक भुवन नारायण कंठ ने कहा कि 31 मार्च तक पीएचसी स्तर पर टीवी हारेगा, देश जीतेगा के स्लोगन के साथ सेमिनार आयोजित कर जनजागरूकता अभियान चलाया जायेगा और 24 मार्च को जिला स्थित सदर अस्पताल के यक्ष्मा केंद्र परिसर में हर साल मनाया जानेवाला विश्व यक्ष्मा दिवस का आयोजन भी किया जायेगा।

ADVERTISEMENT

मौके पर बेनीपट्टी पीएचसी के यक्ष्मा केंद्र के वरीय चिकित्सा पर्यवेक्षक स्मिता कुमारी, जिला कार्यक्रम समन्वयक पंकज कुमार, डीएफआइटी के समन्वयक प्रदीप कुमार, केयर इंडिया के आइटी सेल के प्रबंधक रजनीश मेहता, वरीय प्रयोगशाला पर्यवेक्षक मो. अमरुद्दीन अंसारी, डीएफआइटी के पर्यवेक्षक सुनील शुक्ला, डॉट प्रोवाइडर सह ग्रामीण चिकित्सक श्याम कुमार झा और जिरौल गांव की टीवी चैंपियन के ख़िताब से सम्मानित ललिता देवी व आशा कार्यकर्ता व स्वास्थ्यकर्मी भी मौजूद थे।

ADVERTISEMENT

बता दें कि ललिता टीवी को हराकर टीवी चैंपियन की ख़िलाब हासिल की है और टीवी क्या है और कितना खतरनाक है, बचाव और इलाज कितना जरूरी है के विषय में मौजूद लोगों के साथ अपना अनुभव साझा की।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: