सदर अस्पताल में कोरोना गाइडलाइन का नहीं होता अनुपालन लोगो को सता रहा डर

मधुबनी : सरकार की ओर से जारी कोरोना गाइडलाइन का अनुपालन करवाने में खुद को लोगो को देख रेख करने वाले स्वास्थ्य विभाग सबसे अंतिम मे जा रहा है।मधुबनी सदर अस्पताल में प्रतिदिन कोविड-19 गाइडलाइन की धज्जियां उड़ती हैं। अस्पताल के आउटडोर पर प्रतिदिन करीब तीन सौ से चार सौ मरीज अस्पताल पहुंचते हैं।

ADVERTISEMENT


इनके साथ परिजनों का भी आना रहता है, ऐसे में प्रतिदिन आउटडोर में करीब पांच सौ से भी अधिक लोगों की भीड़ जुटती है। भीड़ की वजह से अफरातफरी का माहौल कायम हो जाता है। रजिस्ट्रेशन काउंटर पर भी काफी भीड़ उमड़ती है। कहने को सदर अस्पताल की सुरक्षा में करीब 20 सुरक्षा गार्डों को लगाया गया है। बावजूद कोरोना काल में जो सोशल डिस्टेंस मेंटेन करना महत्वपूर्ण है। उसकी प्रतिदिन धज्जियां उड़ती नजर आ रहा है। अधिकतर मरीज बिना मास्क के ही आडटडोर में पहुंचते हैं।

ADVERTISEMENT

बीते दिनों गायनिक वार्ड के बाहर करीब दो सौ से भी अधिक मरीज पहुंचे। भीड़ इस कदर हावी थी कि एक-दूसरे के सिर पर पैर रखकर जाने को आमादा थी। मरीजों का कहना था कि कतार नहीं रहने की वजह से कई बार मरीजों में धक्का-मुक्की की नौबत आ जाती है। मरीज के परिजन हरिश्चंद्र शर्मा ने बताया कि अस्पताल में अधिकतर जांच भी बाहर से करवाना पड़ता है। इसके अलावा रजिस्ट्रेशन के बाद मरीजों को सबसे पहले कोरोना की जांच करवानी होती है।

ADVERTISEMENT

इस बाबत सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार झा से पूछा गया तो वे त्वरित अस्पताल प्रबंधक से कोरोना गाइडलाइन का पालन करवाने का निर्देश दिया। अस्पताल प्रबंधक अब्दुल मजीद ने कहा कि शुक्रवार से ही कुछ अतिरिक्त गार्ड की मदद से गाइडलाइन का पालन करवाया जाएगा। इसके लिए अगर सख्ती बरतने की जरूरत पड़ी तो सख्ती बरती जाएगी।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: