एक दिव्यांग ऐसा भी, जिसे मांगने पर मौत भी नही मिले

मधवापुर : ईश्वर भी किसी को ऐसी सजा देते है। जो पूरी उम्र अपने हालात पर बद नसीबी का रोना रोते है। जो भगवान से मौत भी मांगता है तो उसे मौत नही मिलती है।

ADVERTISEMENT

जी हा हम बात कर रहे है मधवापुर प्रखंड के पिरौखर पंचायत के दिव्यांग उपेंद्र ठाकुर का। जो अपने दोनों पैर से दिव्यांग है। भगवान ने ऐसा बना दिया कि परिवार में भी आ कोई आगे है और ना कोई पीछे देखने वाला।

ADVERTISEMENT

गरीबी का आलम यह है कि अपने एक विधवा भाई के पत्नी का भी भरण पोषण इनकी जिम्मेदारी है। दिन और रात में मात्र एक समय का ही भोजन नसीब होता है। कभी कभी तो ऐसा परिस्थिति आता है कि 10 दिन तक भूखे सोने की नोबत रहती है।

ADVERTISEMENT

ऊपर से वंशज के लोग जमीन हड़पकर गलत तरीके से उस पर कब्जा भी जमा लिया है। न्यायालय के शरण मे गया तो दिव्यांग के साथ मारपीट कर निर्दयता की सारी हदें पार कर दिया।

ADVERTISEMENT

जीने के लिए मात्र वृद्धावस्था पेंशन का 4 सौ रुपया ही जीवन का सहारा बना हुआ है। जिससे किसी तरह जीवन को रेंगते है। चारो तरफ से भुखमरी व बदतर हालात बनने के बाद अपनी बात को मधुबनी न्यूज़ के समक्ष रखने की जोहमत उठाई।

ADVERTISEMENT

मधुबनी न्यूज़ को जैसे ही इस लाचार व बदतर हालात में रह रहे दिव्यांग की जानकारी मिली। टीम सीधा उनके घर पहुंच गया और उनकी व्यथा को दुनिया के सामने रखने की कोशिश किया।

ADVERTISEMENT

दिव्यांग उपेंद्र ठाकुर ने कहा हम लगातार कई वर्षों से न्याय के लिए भटक रहे है। लेकिन ना तो कोई सरकार अथवा कोई प्रशासनिक पदाधिकारी ही हमारी आवाज को सुनी। हमे कुछ लोगों के द्वारा दबाया जा रहा है। बार बार मारपीट की घटना को अंजाम दिया जाता है। जीने के लिए कोई सहारा नही है। इसलिए हम मधुबनी न्यूज़ के माध्यम से न्याय की गुहार लगाते है और सरकार से सहायता का आग्रह करते है।

समाजसेवी मनीष कुमार झा ने कहा हम लगातार इस दिव्यांग की मदद करते आ रहे है। लेकिन इन्हें सरकारी सहायता की आवश्यकता है। इन्हें दिव्यांग पेंशन, पीएम आवास योजना का लाभ व इलेक्ट्रिक साइकिल दिए जाने की मांग प्रशासन से करते है। ताकि ऐसे निःसहाय लोगों की मदद हो सके और ये भी समाज मे बेहतर जिंदगी जी सके।

मधुबनी न्यूज़ अपने सभी दर्शकों से आग्रह करता है कि ऐसे दिव्यांग लोगों की सहायता करें। ताकि कोई भी व्यक्ति दिव्यांग होने पर अपने आप को कुंठित महसूस नही करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: