बेनीपट्टी में शराब तस्करों का हौसला सातवें आसमान पर पहुंचा

देर रात बसैठ स्थित पुलिस कैम्प के हवालदार को बाइक से किया कुचलने का प्रयास घायल हवालदार का टूटा एक हाथ, रेफर

सूचना के दो घंटे बाद भी नही पहुंची थाना पुलिस

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो क्लिप बना चर्चा का विषय

बेनीपट्टी में पीड़ा बयां करते घायल हवालदार

बेनीपट्टी : अनुमंडल प्रक्षेत्र में तमाम शख़्तियों के बावजूद इन दिनों शराब तस्करों का मनोबल सातवें आसमान पर पहुंच चुका है. तस्करी के दौरान पकड़ने या रोकने के दौरान तस्कर न केवल अपनी जान की चिंता करते हैं बल्कि पुलिस कर्मियों से भी निबट लेने की हरसंभव कोशिश करने से बाज नही आते. ताजा मामला बेनीपट्टी थाना के बसैठ की है.

ADVERTISEMENT

जहां शुक्रवार की रात करीब 9 बजे के आस-पास तस्कर एक बाइक पर दो बोरे में रखे शराब को लादकर तेज गति से साहरघाट से बसैठ की ओर जा रहा था. जहां बसैठ स्थित बासुकीनाथ झा के घर के समीप अचानक एक ट्रक से टकरा जाने के कारण बाइक चालक का संतुलन बिगड़ गया और शराब भरा बोरा नीचे सड़क पर जा गिरा. सड़क गिरते ही बोरे से शराब की बोतल भरभराकर बाहर निकलने लगी. इसी क्रम में वहां दर्जनों स्थानीय लोग पहुंच गये. स्थानीय लोगों को आते देख तस्कर शराब का बोरा छोड़ अपनी बाइक लेकर भाग निकला. इसके बाद ग्रामीणों ने उक्त घटना की जानकारी पास के पुलिस कैम्प को दी.

ADVERTISEMENT

कैम्प से हवालदार राजकिशोर ठाकुर, होम गार्ड मो. बारिश और रामवृक्ष राम के साथ घटना स्थल पर पहुंच शराब को अपने कब्जे में ले लिये और बेनीपट्टी थाना पुलिस को घटना की सूचना दी. इस आशा में खड़े होकर निगरानी करने लगे कि थाना पुलिस गश्ती टीम आकर बिखड़े पड़े शराब को थाने ले जायेगी. इसके तीन घंटे बाद रात के करीब 12 बजे फिर एक तस्कर बाइक पर दो बोरा शराब रखे उसी दिशा से तेज रफ्तार से आया. जिसे रोकने हेतु हवालदार राजकिशोर ठाकुर ने टॉर्च जलाकर इशारा किया तो बाइक चला रहे तस्कर ने अपनी बाइक हवालदार के सिर पर चढ़ा दिया.

ADVERTISEMENT

जिससे हवालदार घायल होकर गिर पड़े. हवालदार का दांया हाथ भी टूट गया. इस क्रम में बाइक और शराब के बोरे सड़क पर गिर गये. इधर जब तक हवालदार के साथ रहे अन्य होम गार्ड घायल हवालदार को उठाते तब तक तस्कर बाइक और शराब को छोड़कर पांव पैदल ही भाग निकला. एक बार फिर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गयी. घटना की सूचना बेनीपट्टी एसडीपीओ और थाना पुलिस को दी गयी लेकिन सूचना मिलने के ढाई घंटे बाद तक भी न तो एसडीपीओ न ही थाना पुलिस ही घटना स्थल पर पहुंची. घायल हवालदार को इलाज के लिये बेनीपट्टी पीएचसी लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार कर बेहतर इलाज के लिये सदर अस्पताल मधुबनी रेफर कर दिया गया. कैम्प के जवानों ने बताया कि सुबह ढाई बजे के करीब थाना पुलिस आकर चारों बोरे शराब और बाइक को ले गयी.

ADVERTISEMENT

उसके बाद सुबह में जानकारी लेने एसएचओ खुद कैम्प पर पहुंचे. वहीं सुबह होते ही घायल हवालदार और कैम्प के जवानों का आपबीती वाला वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगा. जो पुलिस की कार्यशैली और नियत पर सवाल खड़े कर रहे हैं. कई ग्रामीणों ने खुलकर कहा कि पुलिस शराब तस्करों से नजराना वसूलती है. इसलिये सूचना मिलने पर भी समय से घटना स्थल पर नही पहुंचती है.

ADVERTISEMENT

इस बाबत पुलिस निरीक्षक एसएचओ महेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि पिछले तीन दिनों से अनाज भरे ट्रक लूट मामले के खुलासे में जुटे रहने और दूसरे स्थानों पर छापेमारी करने की व्यस्तता के कारण त्वरित बसैठ नही पहुंचा जा सका. शराब तस्करी पर रोक के लिये थाना पुलिस संजीदा है.

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: