किसानों को मिली राहत धान प्राप्ति 21 फरवरी तक बेच पाएंगे धान,24घंटा में मिल जाएगी राशि

पटना में सहकारिता और खाद्य उपभोगता संरक्षण विभाग की प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा गया कि 21 फरवरी तक जो भी किसान आएंगे, उनके धान को ज़रूर ले लिया जाएगा।

किसानों को 24 घंटे के अंदर भुगतान भी कर दिया जाएगा।बड़े बिचौलियों और दलालों से बचने के लिए समय से पहले ही 28 जनवरी को सहकारिता विभाग की वेबसाइट को बंद कर दिया गया है।सहकारिता विभाग की सचिव बंदना प्रेयसी के मुताबिक धान लेने का काम नवंबर से शुरू हुआ था।उन्होंने कहा कि धान बेचने वाले किसानों की संख्या में इज़ाफा हुआ है।वहीं खाद्य उपभोगता संरक्षण विभाग के सचिव विनय कुमार ने बताया कि किसानों का धान MSP पर बिके इसके लिए सरकार की ओर से ये व्यवस्था की गई है।

सरकार अब FCI से चावल नहीं खरीद रही है। उन्होंने कहा कि हम लोग अपने किसान से लिए गए धान का प्रयोग कर रहे हैं। अब कोई किसान नहीं बचा है जो अपना धान बेचना चाहता हो। उन्होंने कहा कि विभाग ने घर-घर जाकर किसानों से राय ली है।


खाद्य उपभोगता संरक्षण विभाग के सचिव विनय कुमार ने कहा कि धान को लेने का कार्य काफी तेज गति से हुआ है।शुक्रवार की शाम तक 30 लाख मीट्रिक टन से ज्यादा धान की प्राप्ति हो चुकी है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: