प्रश्नपत्र व ओएमआर स्कुलो को मिला 26 फरवरी से होगी नौवीं की परीक्षा, शिक्षक खुद पीठ पर लाद कर ला रहे प्रश्नपत्र

मधुबनी : ईन दिनो शिक्षकों को प्रश्नपत्र व ओएमआर पेपर स्कुल तक लाना से लेकर परीक्षा की जिममेदारी का सामना करना एक चुनौती बना है।बिहार बोर्ड का फरमान पुरा करना शिक्षको की जबाब देही बनती है ।ऐसे मे बोर्ड द्वारा 26 से होने वाले नौंवी की परीक्षा के लिए जिले में पहुंचे प्रश्नपत्र और ओएमआर सीट लेने के दौरान शिक्षको को कुली जैसा हालत में दिख रहे है।

ADVERTISEMENT

संस्कृत उच्च विद्यालय जलधारी चौक पर बोर्ड से जिले को पहुंची सामग्रियों का वितरण सोमवार से किया जा रहा है । यहां पर 3711 पैकेट में 418 सेंटर के लिए पहुचे सामग्रियों में से 190 सेंटरों के लिए सामग्रियों का वितरण किया गया। इसदौरान सुबह से ही वितरण स्थल पर अफरातफरी का माहौल दिखा।
स्कूलों को अपने पैकेट तलाशने में पसीना छूट रहा था। स्कूल के एचएम और शिक्षक व शिक्षिकाओं की हातल कुली और मजदूरों की तरह बनी रही। यहां से सामग्री प्राप्त कर उसे ले जाने में उन्हें भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। वितरण का कार्य देख रहे रहिका बीआरपी ने बताया कि शिक्षकों को समस्या न हो इसके लिए व्यवस्थित रूप से काम किये जा रहे हैं।

ADVERTISEMENT

दुसरी ओर शिक्षकों में दिखी नाराजगी का आलम ये रहा की सामग्री प्राप्त करने वाले शिक्षकों में मजदूरी की हालत के कारण गहरी नाराजगी दिखी। सकरी विद्यालयों में माथे पर सामान ले जाने वाले शिक्षकों ने बताया कि यह काफी शर्मनाक दशा है। शिक्षक और शिक्षा व्यवस्था की पोल इससे खुल रही है। सोमवार को यहां से उमवि रहिका, उमवि मकसूदा, उमवि बसुआरा, उमवि ककरौल उत्तरी, उमवि सरिसव पाही पूर्वी, उमवि परसौनी, उमवि सकरी पश्चिमी, उमवि जयनगर बस्ती, उमवि देवधा सहित जिले के विभिन्न प्रखंडों के विद्यालयों के एचएम और शिक्षकों ने बताया कि प्रखंडों में बीआरसी और अन्य प्रमुख स्थानों पर सामग्रियों को पहुंचाया जाना चाहिए।

कई शिक्षक अपने स्कूल के बच्चों की मदद से सामग्रियों को ले जाने की कोशिश में दिखे। कुछ शिक्षक तो अपने बाइक को ही ठेला बनाकर फेरीवालों की तरह सामानों को रिस्क लेकर जाते दिखे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: