MSU ने कहा बलात्कार की घटना में हरलाखी पुलिस की भूमिका संदेहास्पद

एमएसयू ने प्रेसवार्ता कर हरलाखी पुलिस पर लगाये कई गंभीर आरोप

हरलाखी : मिथिला जहाँ सीता जी का जन्म हुआ। आज उसी मिथिला क्षेत्र के हरलाखी प्रखंड में लगातार ये दूसरा सामुहिक बलात्कार की घटना होने से यहां की धरती शर्मसार हुआ है। नहरनिया गाँव में विगत दिनों एक 10 साल की बच्ची से बालात्कार किया गया, जिसमें एक दोषियों को ग्रामीणों के द्वारा पकड़ लिया गया।

ADVERTISEMENT

पूछने पर तीन अन्य लोगों का नाम बताया गया उसके बाद पुलिस ने सभी आरोपियों को पकड़ कर जेल भेज दिया। जब हमलोगों को इस घटना का जानकारी हुआ तो हम लोग इस घटना का संज्ञान लिया। जो जानकारी हम लोगों को प्राप्त हुआ, उसमें जो वीडियो सामने आया है। उसमें साफ देखा जा सकता है कि लड़की रोती रही उसके बाद भी लड़का उसका बलात्कार करता रहा। इतने बड़े साक्ष्य होने के बाद भी मामला को स्थानीय पुलिस प्रशासन के द्वारा मामला को दबाया जा रहा है।

ADVERTISEMENT

उक्त बातें मिथिला स्टूडेंड यूनियन के पूर्व राष्ट्रीय संगठन मंत्री राघवेंद्र रमन नहरनियां में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा। उन्होंने यह भी कहा कि हमारा माँग है कि जिस मोबाईल से वीडियो बनाया गया। उस मोबाईल को जब्त कर पुलिस को जाँच में भेजना चाहिए, ताकि कोई अन्य वीडियो है तो सामने आये और दोषियों को कड़ी सजा मिल सके। घटना जिस दिन हुआ था उस दिन पीड़िता जो कपड़ा पहनी थी, उसमें दाग लगा है। उस कपड़ा को भी पुलिस के द्वारा जाँच में भेजा जाना चाहिए था। घटना के बाद पीड़िता को मेडिकल में भेजना चाहिए था। वह भी हमलोगों के दबाब पर 24 घण्टा बाद मेडिकल के लिए ले जाया गया। इस घटना का आवेदन उसके परिवार के बदले बगल के लोगों के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज की गई। इस सभी घटना को देखने के बाद हरलाखी पुलिस का रोल संदेहास्पद है। इसलिए सरकार से माँग करते है कि घटना की उच्च स्तरीय जाँच किया जाये जिससे दोषियों को सजा मिल सके। साथ ही इस घटना में लापरवाही बरतने वाले थाना प्रभारी को भी बर्खास्त किया जाय।

ADVERTISEMENT

मौके पर निशांत शेखर, पंचायत समिति सदस्य प्रतिनिधि विशेश्वर महतो, उदय मंडल, कौशल मंडल, मनोज कुमार, मिंटू मंडल समेत अन्य लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: