मिथिलांचल की 15 दिवसीय मध्यमा परिक्रमा यात्रा आज से

हरलाखी : मिथिलांचल के प्रसिद्ध 15 दिवसीय मध्यमा परिक्रमा यात्रा 14 मार्च रविवार को ऐतिहासिक कल्याणेश्वर स्थान महादेव मंदिर कलना से शुरू हो रही है। इस परिक्रमा मेला में लाखों की संख्या में साधु संत महंथ एक साथ 15 देेव स्थलों का भ्रमण कर दर्शन करते हैं।

ADVERTISEMENT

14 मार्च को कलना में जमा होकर अगले दिन 15 मार्च को गिरजा स्थान फुलहर पहुंचेगी। 16 को मटिहानी स्थान नेपाल, 17 को जलेश्वर स्थान नेपाल, 18 को मरई स्थान, 19 को ध्रुवकुंड, 20 मार्च को कंचनवन, 21 मार्च को परबत्ता, 22 मार्च को धनुषाधाम, 23 मार्च को सतोखर, 24 मार्च को औरही स्थान, 25 मार्च को करुणा स्थान एवं 26 मार्च को कल्यानेश्वर स्थान कलना में परिक्रमा यात्रा संकल्प पूरी कर विश्वामित्र आश्रम बिशौल में रात्रि विश्राम करेंगे।

ADVERTISEMENT

इसके अगले दिन नेपाल के ऐतिहासिक व धार्मिक नगरी जनकपुर धाम के पंचकोशी परिक्रमा करके यह यात्रा समाप्त हो जाएगी। विश्वामित्र आश्रम के महंथ बृजमोहन दास ने जानकारी देते हुए बताया कि परिक्रमा मेला में 15 दिनों तक भारत नेपाल सहित अन्य देशों के लाखों साधु संत 15 देव स्थलों का भ्रमण करते हैं। मेला में कचुरीधाम नेपाल से मिथिला बिहारी एवं जनकपुर से किशोरी जी की डोली एक साथ चलते हैं।

ADVERTISEMENT

सभी धार्मिक स्थलों पर डोली को श्रद्धालु भक्त संत महंथ पूजा पाठ दर्शन करते हैं। यह यात्रा सदियों से चली आ रही है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: