अगलगी में कोशी नहर पर आसरा लिए दो भूमिहीनों का घर जलकर हुआ खाक

एमबीबीएस डॉक्टर सह समाजसेवी ने पीड़ित परिवार को दिया भोजन, कपड़ा व रहने का आसरा

भूमिहीन होने के कारण करीब 50 परिवार कोशी नहर पर घर बनाकर बिता रहे हैं जीवन

पीड़ित परिवार को अनाज व कपड़ा देते समाजसेवी

हरलाखी : प्रखंड अंतर्गत सोनई गांव स्थित कोशी नहर पर घर बनाकर रह रहे दो भूमिहीन के यहां अचानक आग लगने से घर पूरी तरह जलकर नष्ट हो गया। घर जलने के कारण दोनों पीड़ित परिवार को दूसरे के यहां शरण लेने के लिए मजबूर हो गए।

ADVERTISEMENT

पीड़ित गृहस्वामी जितनी देवी व मंगली देवी ने बताया कि गांव में रहने के लिए जमीन नहीं होने के कारण नहर पर घर बनाकर रहने के लिए मजबूर हैं। बीती रात अचानक आग लगने से पूरा घर जलकर नष्ट हो गया। घर में रखा सभी सामान भी जलकर नष्ट हो गया। घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीण समाज सेवी डॉ प्रेम कुमार मंडल ने दोनों गृहस्वामी को एक महीने का राशन के साथ कपड़ा और नगद देकर सांत्वना दी।

ADVERTISEMENT

समाजसेवी ने स्थानीय प्रशासन से पीड़ित परिवार को आपदा से मुआवजा व आवास देने की मांग की है। गौरतलब है कि सोनई गांव होकर गुजरने वाली कोशी नहर पर करीब 50 भूमिहीन परिवार अपना घर बनाकर रह रहे है। इन भूमिहीन परिवारों का सुधि लेने वाला कोई नहीं है। प्रशासन की ओर न तो इन परिवारो को वासगित पर्चा दिया गया है न ही किसी तरह के योजनाओ का लाभ। सभी भूमिहीन परिवार वगैर बिजली पानी के नहर किनारे रहने को मजबूर हैं।

new
ADVERTISEMENT

इस बावत सीओ सौरभ कुमार ने बताया कि मामले की जांच कर पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की पहल की जायेगी।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: