HARLAKHI : 55 राशन कार्ड से 275 यूनिट अनाज कटने से लाभुकों ने किया प्रदर्शन

हरलाखी प्रखंड के इटहरवा गांव का मामला

इटहरवा गांव के कार्डधारी सरकार व विभाग के खिलाफ करते प्रदर्शन

हरलाखी : केंद्र व राज्य सरकार आधार से राशन कार्ड को जोड़कर हजारों-हजार फर्जी यूनिट खारिज करने का दावा कर रही है, जबकि जमीनी हकीकत और ही नजर आ रहा है। हरलाखी प्रखंड अंतर्गत इटहरवा गांव के करीब 55 राशन कार्ड से 275 यूनिट पात्र लोगों का ही नाम खारिज कर दिया गया है। किसी के पिता का नाम, किसी की पत्नी का नाम, किसी के पुत्र-पुत्री का नाम और किसी की बहू का नाम बिना किसी जांच पड़ताल के खारिज कर दिया है। नाम काटे जाने के विरोध में दर्जनों राशन कार्डधारी वार्ड नंबर 1 के वार्ड सदस्य मो. ऐनुल हक के नेतृत्व में सरकार व विभाग के खिलाफ प्रदर्शन किया।

ADVERTISEMENT

मो. ऐनुल राईन ने बताया की आज हालत यह है कि जिस परिवार में 7 लोग रहते हैं उनमें छह लोगों का नाम राशन कार्ड से हटा दिया गया है और केवल उस घर की महिला का ही नाम रखा गया है। छह सदस्यों के परिवार में 5 लोगों का ही नाम राशन कार्ड पर दर्ज है। शेष का नाम गायब कर दिया गया है। अब हालत यह है कि लोगों को अपने पूरे परिवार के लिए खाद्यान्न मिलना दूभर हो गया है। लोग अपने राशन कार्ड में अपना यूनिट बढ़ाने के लिए काफी परेशान हैं। लोगों को समझ में नहीं आ रहा राशन कार्ड किस तरह दुरुस्त होगा ताकि उनके पूरे परिवार के सदस्यों के अनुरूप खाद्यान्न मिल सके ताकि उन्हें दो वक्त की रोटी के लाले ना पड़े। नाम काटे गए सभी परिवार अत्यंत गरीब है। फातमा खातून के कार्ड में 6 में पांच नाम गायब है। इसी तरह सैफुन खातून के 8 नाम में 7 लोगों का नाम गायब है। सबिला खातून के 7 नाम मे 6 सदस्य का नाम काट दिया गया है। अचानक पात्र व्यक्तियों का नाम कट जाने से इनकी परेशानी बढ़ती जा रही है।

ADVERTISEMENT

प्रदर्शन के दौरान इटहरवा गांव के फातमा खातून, सैफुल खातून, सबिला खातून, हसीना खातून, हसीना खातून, बैगन खातून, कुरैशा खातून, सदिना खातून, सैमुन खातून, जमुन राईन सहित अन्य लोग मौजूद थे। एमओ इंद्रजीत कुमार ने बताया कि नाम कैसे कटा हमको भी जानकारी नही है। नाम काटे जाने की सूचना ग्रामीणों ने दी है। समस्या समाधान की पहल की जाएगी।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: