हरलाखी प्रखंड के आधा दर्जन गांव फैल चुकी है कोरोना वायरस, 27 पॉजिटिव

दूसरी लहर में सोमवार तक 30 लोग पाए गए है पॉजिटिव

5 का रिपोर्ट आ चुका है निगेटिव, 5 है रेफर अन्य 12 को होम आइसोलेशन

हरलाखी : कोरोना की दूसरी लहर हरलाखी प्रखंड के आधा दर्जन गांव में फैल चुकी है। फिर भी लोग सचेत व सतर्क नजर नही आ रहे है। हरलाखी प्रखड में सोमवार तक 30 पॉजिटिव पाए गए है। जिसमें ज्यादा तर लोग बाहर से अपने घर आये है। पांच को गम्भीर अवस्था मे रेफर कोविड 19 अस्पताल में किया गया है। जबकि पांच का रिपोर्ट निगेटिव आ चुका है। अन्य को होम आइसोलेशन में चिकित्सकों की निगरानी में रखा गया है।

हरलाखी सीएससी के बीसीएम सतीश तिवारी ने बताया कि पिपरौंन, सुखवासी, दुर्गापट्टी, बिशौल बेलदारी, सोनई के संक्रमितो का रिपोर्ट निगेटिव आ चुका है। जबकि ख़िरहर, झिटकी, सुखवासी की महिला, बेता परसा का युवक, एव कान्हरपट्टी के संक्रमितों को कोविड अस्पताल में रेफर किया गया है। जंहा ईलाज चल रहा है।

ADVERTISEMENT

वही सोठगाव, हुर्राही, बिशौल के संक्रमित पति-पत्नी, हाट परसा, हिसार के दो, ख़िरहर के 3 मरीजो को होम आइसोलेशन में रखा गया है। बीसीएम ने बताया कि कुंडल मढ़िया के एक फौजी संक्रमित रहने के बाद भी वे अपने रिश्तेदारी में शादी कार्यक्रम में भाग ले रहे है। जो कोरोना को और फैलाने को बढ़ावा दे रहे है। इसका खुलासा मेडिकल टीम उनके घर जाकर कनेक्ट ट्रेसिंग करने गए। तब हुआ है। घर पर कोई सदस्य नही मिलने पर मेडिकल टीम वापस आ गई। सभी लोग फौजी के साथ शादी में रिश्तेदारी में गए थे।

ADVERTISEMENT

प्रखंड में पिछले दो दिनों में कोरोना के आठ नए पॉजिटिव मरीज मिले। यहां मरीजों की संख्या कुल 30 पहुंच गयी है। आठ पॉजिटिव मरीजो में चार चुपके से साहरघाट से बस पकड़ जयपुर राजस्थान के लिए विदा हो गया है। मेडिकल टीम उन्हें मोबाइल से संपर्क कर तीन को वापस बुला लिया है। परंतु एक पॉजिटिव जयपुर निकल गया। हरलाखी पीएचसी के बीसीएम सतीश कुमार तिवारी ने बताया कि चार फरार पॉजिटिव मरीजो में दो हिसार व एक सोठगाव के वापस आ गए है। जबकि हिसार का ही एक मरीज जयपुर निकल गया है। हालांकि चारो के परिजनों के कांटेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर जांच के लिए लिखा गया है। उन्होंने बताया कि 30 संक्रमितों में पांच का रिपोर्ट निगेटिव हो चूका है। वहीं पांच कोविड अस्पताल में इलाजरत है। 19 मरीज होमआइसोलेशन में हैं और एक जयपुर निकल गया है। कोरोना इतनी घातक रहने के बाद भी लोग बचाव के प्रति गम्भीर नही है। जो खतरा का विषय है। 

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: