एराजी जगत में छठ घाट के निकट बना कूड़ा कचरा स्पोर्ट, लोगों में आक्रोश

बेनीपट्टी : प्रखंड के बेहटा पंचायत स्थित एराजी जगत के ग्रामीणों में मुखिया प्रतिनिधि के रवैये के प्रति नाराजगी गहराने लगा हैं। मिली जानकारी के अनुसार मुखिया प्रतिनिधि द्वारा विभिन्न स्थानों से कचड़ा उठवाकर एराजी जगत में स्थित छठ घाट और नल जल योजना के जलमीनार के समीप रखवा दिया गया है। जिसके कारण ग्रामीण काफी आक्रोशित हैं।

ADVERTISEMENT

बताया जा रहा है कि कचड़ों में कुरा कड़कट के अलावे काटे गये मुर्गा का अवशेष और मवेशियों के हड्डी भी शामिल हैं। जिसे मुखिया प्रतिनिधि द्वारा छठ घाट के निकट रखवा गया है। ग्रामीणों ने बताया कि लोक आस्था के महापर्व छठ के दौरान सैकड़ों परिवारों का इसी तालाब पर घाट रहता है और यहां कचड़ा लाकर रख दिया गया है। जब ग्रामीण मुखिया प्रतिनिधि को कचड़ा हटाने का आग्रह किया तो उनके द्वारा उपर से मिट्टी डाल देने की बात कहकर टाल दिया गया। ग्रामीणों का कहना है कि हड्डी पर मिट्टी डालने से हमलोगों को छठ का महापर्व मनाना मुश्किल होगा और यह हमारी आस्था के साथ खिलवाड़ करने के समान है। मुखिया प्रतिनिधि का यह नकारात्मक रवैया बर्दास्त नही किया जायेगा।

ADVERTISEMENT

ग्रामीणों ने कहा कि एक तरफ सरकार जलजीवन हरियाली अभियान के तहत तालाबों के सौंदर्यीकरण के दिशा में व्यापक पैमाने पर कार्य कर रही है वहीं बेहटा पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि विभिन्न स्थानों से कचड़ा समेट लाकर तालाब और छठ घाट के निकट फेंक दे रहे हैं।

ADVERTISEMENT

ग्रामीणों ने कहा कि सीएम के सात निश्चय योजना के तहत संचालित नल जल योजना के जलमीनार के निकट साफ सफाई रखना है। लेकिन जिस छठ घाट के निकट मुखिया प्रतिनिधि कचड़ों और अपशिष्ट पदार्थों का अंबार लाकर रखवा दिये हैं, वहां मुख्यमंत्री पेय जलापूर्ति योजना का जलमीनार भी है। कचड़ों के कारण वहां जाने आने का भी रास्ता अवरूद्ध हो गया है।

ADVERTISEMENT

ग्रामीणों ने यह भी कहा कि अगर जल्द छठ घाट के निकट से कचड़ा और हड्डी को नही हटाया गया, तो बाध्य होकर एसडीएम और डीएम के समक्ष शिकायत की जायेगी। उसके बाद भी समस्या का समाधान नही हुआ तो हमलोग आंदोलन पर उतरने को बाध्य होंगे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: