बिहार होगी प्रदूषण मुक्त सड़कों पर अब चलेगी इलेक्ट्रिक बसें, किराया मे भी होगी कटौती

पटना : बिहार में प्रदूषण मुक्त की कवायद जल्द शुरू होगी । अब सडक़ पर दौरेगी प्रदूषण मुक्त ईलेक्ट्रिक बस जिससे प्रदुषण ही नही बलकी लोगो को सफर करनै मे काफी सहुलियत और सस्ता होगी। जल्द ही इसकी शुरुआत पटना में होगी। इसके लिए आठ बसें पटना के फुलवारीशरीफ पहुंच चुकी हैं। इन आधुनिक इलेक्ट्रिक बसों के बारे में बताया जा रहा है कि यह एक घंटे में रिचार्ज होंगी, और फुल रिचार्ज होने पर यह 250 किलोमीटर तक का सफर तय करेंगी। 

ADVERTISEMENT


बिहार राज्य पथ परिवहन निगम (BSRTC) ने आठ इलेक्ट्रिक बसों की खरीदारी की है। फिलहाल इलेक्ट्रिक बसों को राजधानी पटना से राजगीर होते हुए बिहार शरीफ और पटना से हाजीपुर होते हुए मुजफ्फरपुर तक चलाया जाएगा। अगर यह सफल रहा तो बाकी जिलों को भी इलेक्ट्रिक बस प्रोजेक्ट से जोड़ा जाएगा। इन बसों का किराया सामान्य बसों से कम होगा।

ADVERTISEMENT


हाजीपुर और पटना के बीच CNG बसों को भी चलाने की तैयारी इलेक्ट्रिक बसों के परिचालन के बाद हाजीपुर और पटना के बीच सीएनजी बसें चलाने की भी तैयारी है। शुरुआत में सीएनजी बसों का परिचालन जेपी सेतु से होते हुए हाजीपुर से पटना तक की जाएगी। बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ही इन बसों की खरीदारी कर रहा है। पटना में चलने वाली इलेक्ट्रिक बसों की संख्या 21 होगी। वहीं मुजफ्फरपुर और बिहारशरीफ में दो-दो बसों का परिचालन होगा। पटना पहुंच चुकीं आठ बसों का रजिस्ट्रेशन और परमिट की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। यह सभी बसें परिवहन विभाग के फुलवारीशरीफ डिपो में लगी है। बाकी बसें राजस्थान के अलवर से मार्च के दूसरे सप्ताह तक यहां आने की संभावना है।

ADVERTISEMENT

फुलवारीशरीफ डिपो में बसों को चार्ज करने के लिए प्लेटफॉर्म तैयार 
फुलवारीशरीफ डिपो में एक साथ आठ इलेक्ट्रिक बसों को चार्ज करने के लिए आधा एकड़ जमीन पर प्लेटफॉर्म तैयार किया गया है। एक घंटे के अंदर बस फुल चार्ज हो जाएगी और इससे लगभग 250 किलोमीटर तक चलेगी। उम्मीद है कि मार्च के पहले सप्ताह में इलेक्ट्रिक बसों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। इन बसों में सीट से लेकर लुक तक सब लग्जरी बस जैसा है।
डीजल बसों की तुलना में इलेक्ट्रिक बसें ज्यादा अरामदायक हैं।

इनमें वातानुकूलित, जीपीएस सिस्टम, सीसीटीवी कैमरा, ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन, आईटीएस डिस्प्ले वैरियेबल मैसेज डिस्प्ले, आपातकालीन बटन, इमरजेंसी हैमर, हाइड्रोलिक पावर स्टीयरिंग जैसी तमाम आधुनिक सुविधाएं दी गई हैं। इलेक्ट्रिक बसों में 25 सीट पैसेंजर के लिए है। इसमें दिव्यांगों के लिए व्हील चेयर खड़ी करने के लिए भी जगह दी गई है। साथ ही उनके लिए हाइड्रोलिक रैंप की भी सुविधा है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: