पट खुलते ही हर हर महादेव की गूंज से गुंजायमान हुआ सभी शिवालय

मिथिला परंपरा के अनुसार पाग व सोलह शृंगार कर शिव को बनाया गया दूल्हा

शिव विवाहोत्सव में कल्याणेश्वर व मनोकामनानाथ महादेव स्थान सहित सभी शिवालयों में बजी शहनाई

कल्याणेश्वर महादेव स्थान में जलाभिषेक करते श्रद्धालु

हरलाखी (मधुबनी) : प्रखंड क्षेत्र स्थित सभी शिवालयों में शिव विवाहोत्सव धूमधाम से मनाया गया। कमतौल मनोकामनानाथ महादेव, खिरहर धरोहर स्थान, हरसुवार भैरव स्थान, सुखबासी इटहरवा महादेव स्थान, पोतगाह महादेव स्थान के अलावे कलना गांव स्थित कल्याणेश्वर महादेव स्थान में गुरुवार की अहले सुबह भगवान शिव का पट खुलते ही हर हर महादेव की गूंज सुनाई देने लगी। सुबह 5 बजे से ही भोलेनाथ की दर्शन व जलाभिषेक के लिए श्रद्धालु लाइन में लगे हुए थे।

दैनिक पूजा के बाद श्रद्धालुओं को पूर्ण सुरक्षा व्यवस्था के बीच दर्शन कराया गया।शिव विवाहोत्सव को लेकर मंदिर के पुजारी एवं भगवान शंकर के भक्त काफी उत्साहित दिख रहे थे।


मिथिला के राजा जनक के द्वारा स्थापित कल्याणेश्वर महादेव स्थान के पुजारी कृष्ण कुमार ठाकुर, हिरा ठाकुर, पप्पू ठाकुर व राजू ठाकुर ने बताया कि यहां प्रत्येक वर्ष भगवान शिव का विवाहोत्सव पूर्ण विधि-विधान व वैदिक रीतिरिवाज के अनुसार धूम धाम से मनाया जाता है। विवाहोत्सव के दौरान भगवान शिव को सोलह श्रृंगार के साथ दूल्हा बनाकर माता पार्वती के संग विवाह संपन्न किया गया। महाशिवरात्रि के दिन चारो पहर में अलग-अलग भावना से पूजा की गई। दैनिक पूजा के बाद रुद्राभिषेक के साथ विश्व कल्याण के लिए प्रधान पूजा, शिव विवाह, मनोकामना पूजा के साथ दर्शनार्थियों के द्वारा हरिओम जल के बाद विदाई से विवाहोत्सव संपन्न किया गया।

विवाह की रात सैकड़ो की संख्या में मैथलानियो के द्वारा भगवान शिव व माता पार्वती को मैथली गीत सुनाकर विदाई संपन्न किया गया। शिवालयों में सुरक्षा व्यवस्था को ले हरलाखी व खिरहर थाना पुलिस मंदिरो पर मुस्तैद थी।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: