कार्यपालक सहायकों ने प्रधान सचिव का पत्र जलाकर किया विरोध

मधुबनी समाहरणालय के समक्ष प्रधान सचिव के तुगलगी फरमान को जलाया

  • कार्यपालक सहायक के छठे दिन भी हड़ताल पर रहने से सभी विभाग का कामकाज ठप
  • कोविड 19 का अनुपालन करते हुए कार्यपालक सहायकों ने किया प्रदर्शन

मधुबनी : बिहार राज्य कार्यपालक सहायक सेवा संघ के आवाह्न पर मधुबनी इकाई के सभी कार्यपालक सहायक पिछले छह दिनों से अपने आठ सूत्री मांगों के समर्थन में जिला अध्यक्ष राजु राय के नेतृत्व में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है।

ADVERTISEMENT

शनिवार को समाहरणालय के समक्ष डॉ. भीम राव अम्बेदकर के प्रतिमा स्थल के परिसर में जिले के सभी कार्यपालक सहायकों ने सेवा स्थायी एवं वेतनमान, मानदेय विषमता, अनुभव की मान्यता, अन्य भत्ता में 10 प्रतिशत वार्षिक वृद्धि, कार्यपालक सहायकों की सेवा नीजी एजेन्सी (बेल्ट्रोन) के हाथों सौंपे जाने के पत्र को निरस्त करने सहित आठ सूत्री मांगों को लेकर जमकर प्रदर्शन कर रहे है।

ADVERTISEMENT


कोविड- 19 का अनुपालन करते हुए कार्यपालक सहायकों ने समाहरणाय के समक्ष बीपीएसएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार के द्वारा सेवा से निकाले जाने वाली पत्र को जलाकर विरोध जताया। इसके साथ सरकार एवं उनके सचिवों को सद्बुद्धि प्रदान करने के लिए कार्यपालक सहायकों के द्वारा हवन कार्यक्रम का भी आयोजन किया।

ADVERTISEMENT

बेएसा, मधुबनी के जिला अध्यक्ष, राजू कुमार राय, राजन ठाकुर एवं कार्यालय मंत्री सत्यजीत ठाकुर एवं जिला उपाध्यक्ष फकीर कुमार मंडल ने कहा कि अपने आठ सूत्री जायज मांगों के साथ कार्यपालक सहायक लगातार पिछले छः दिन से बेमियादी हड़ताल पर है, जिस कारण से लोक सेवाओं के अधिकार एवं लोक जन शिकायत निवारण कार्य सहित सभी विभागों का कार्य पूर्णतः ठप है। जिसपर प्रधान सचिव के द्वारा साकारात्मक पहल करने के विपरीत दमनात्मक नीती अपनाते हुए कार्यपालक सहायकों को निकालने का फरमान का पत्र जारी किया गया है। जो दुर्भाग्यपूर्ण है। बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के जिला मंत्री रमण प्रसाद सिंह ने भी कार्यपालक सहायकों की मांग का जायज बताया एवं कार्यपालक सहायकों की सेवा वाह्य सेवा प्रदाता बेल्ट्रन में हस्तांतरण करने की निर्णय निंदा की।

ADVERTISEMENT

मौके पर उपाध्यक्ष नीरज कुमार, अखिलेश कुमार, जगदिश कुमार, अविनाश कुमार झा, एनएन झा, शंकर कुमार, अजय कुमार दत्त, सुमित कुमार, नरेन्द्र कुमार, राम उदगार राम, शंकर कुमार, अजीत कुमार, विकास कुमार मल्लिक, गोपाल चन्द्र शशि, नूतन कुमारी, प्रशांत कुमार, आरती कुमारी, गुडि़या कुमारी, खुशबू कुमारी, ममता कुमारी, आभा कुमारी, पूजा कुमारी, रिंकु कुमारी, स्मिता कुमारी, मोनी कुमारी, साक्षी, रवि शंकर, राकेश कुमार, मौजूद थे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: